वाराणसी (युग करवट)। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कल नामांकन करेंगे। सांसद प्रत्याशी के तौर पर यह उनका तीसरा नामांकन होगा। लेकिन इस बार उन्हें एक बड़ी कमी खलेगी। पहली बार होगा जब नरेन्द्र मोदी बिना अपनी मां के चरण स्पर्श किए नामांकन करेंगे। उनकी मां का देहांत हो चुका है। अपना पहन्ला चुनाव लडऩे के समय से ही वह हर बार अपनी मां का आशीर्वाद लेने के बाद ही नामांकन के लिए जाते थे।
इस बार वह उनकी यादों के साथ गंगा स्नान करेंगे औरपर्चा दाखिल करने जाएंगे। उन्होंने कहा भी है कि ‘पहली बार से अब तक जितने भी नामांकन किए, मां के पैर छूकर जाता रहा। यह मेरी जिंदगी का पहला चुनाव है जब मैं मां का पैर छुए बिना जाऊंगा। लेकिन मन में भाव भी आता है कि 140 करोड़ के देश की करोड़ो माताएं हैं, उन्होंने जिस प्रकार से मुझे प्यार दिया है, आशीर्वाद दिया है, उनका स्मरण कर के जाऊंगा और फिर मां गंगा तो हैं ही। कमी तो है लेकिन देख रहा हूं करोड़ों माताएं भावात्मक रूप से मुझे हमेशा शक्ति देती रहती हैं।’ अब तीसरी बार मोदी 14 मई को वैशाख शुक्ल सप्तमी तिथि में नामांकन करेंगे। शास्त्रीय मान्यता है कि इस तिथि में ही स्वर्गलोक में मां गंगा की उत्पत्ति हुई और वे भगवान शिव की जटाओं में आईं।
तिथि विशेष पर नक्षत्रराज पुष्य, सर्वार्थ सिद्धि योग व रवि योग का अदभुत संयोग भी है। मोदी आज वाराणसी पहुंच रहे हैं। 22 घंटे तक वाराणसी में रहेंगे। आज शाम पांच बजे से उनका रोड शो शुरू होगा। रोड शो की दूरी पांच किलोमीटर की रखी गई है जिसे पूरा करने में तकरीबन चार घंटे लगेंगे। संभावना रोड शो के लंबे होने की भी है। रोड शो में उनके साथ प्रमुख रूप से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और रालोद अध्यक्ष जयंत चौधरी भी रहेंगे।