नोएडा (युग करवट)। नोएडा, ग्रेटर नोएडा और यमुना विकास प्राधिकरण में तैनात अफसरों के हुए तबादले के बाद एक महिला ने अपने आपको उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री की बहन बता कर, कई अफसरों से ठगी कर ली है। सूत्रों के अनुसार उक्त महिला करोड़ों रुपए की ठगी करने के बाद अपना किराए का घर छोड़ कर भाग गई है। ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के एक अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि नोएडा, ग्रेटर नोएडा, और यमुना एक्सप्रेसवे विकास प्राधिकरण में तैनात दो दर्जन से ज्यादा अफसरों का तबादला यूपी के विभिन्न औद्योगिक विकास प्राधिकरण में हुआ है। कुछ अफसरों ने मलाईदार कुर्सी बचाने के लिए जुगाड़ लगाया। बताया जाता है कि उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री की बहन बताकर प्रियंका गुप्ता नामक महिला ने कई अफसरों से तबादला रुकवाने के नाम पर करोड़ों की ठगी कर ली।
सूत्रों के अनुसार जब मंत्री नोएडा, ग्रेटर नोएडा और यमुना विकास प्राधिकरण के अधिकारिक के दौरे पर आए थे, तब वह मंत्री जी के साथ थी, तथा उसने अपने आप को मंत्री की बहन बताया। बताया जाता है कि प्रियंका गुप्ता ग्रेटर नोएडा के अल्फा- 2 के एच ब्लॉक में किराए के मकान पर रहती थी। उसके द्वारा पैसा लेने के बावजूद भी अधिकारियों का तबादला नहीं रुका, तथा औद्योगिक मंत्री नंद गोपाल गुप्ता ने अधिकारियों को रिलीव करने के लिए प्राधिकरण को पत्र लिखा। उसके बाद महिला अपना किराए का मकान खाली करके करोड़ों रुपया चपत कर रफूचक्कर हो गई है। तबादले की मार झेल रहे अधिकारी लुटे पिटे घूम रहे हैं तथा अपने परिचितों और पुलिस अधिकारियों से अपने पैसे गुपचुप तरीके से वापस लेने की जुगत लगा रहे हैं। बताया जाता है कि महिला के सहारे कुछ पत्रकारों ने भी अधिकारियों को आश्वासन दिया था, कि उनका तबादला रुकवा दिया जाएगा। अब वे अधिकारी उन पत्रकारों के घर पर भी जाकर धरना दे रहे हैं, जिन्होंने तबादला रुकवाने के नाम पर उनसे पैसा लिया था।