नई दिल्ली। देश में बेरोजगारी की समस्या किस कदर बढ़ गई है, इसका एक उदाहरण कोलकाता से सामने आया है। कोलकाता में एक सरकारी अस्पताल में शवों को संभालने के लिए प्रयोगशाला सहायक के छह पदों पर भर्ती निकली। इस पद के लिए आवदेन करने वाले 8000 आवेदकों में इंजीनियर, ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट उम्मीदवार शामिल हैं। जिस प्रयोगशाला सहायक पद के लिए भर्ती निकली है, उसे मुर्दाघर में बोलचाल की भाषा में ‘डोम’ भी कहा जाता है. चिकित्सा प्रतिष्ठान के एक अधिकारी ने बताया कि कि नील रत्न सरकार चिकित्सा कॉलेज सह अस्पताल के फॉरेंसिक मेडिसिन एंड टॉक्सीकोलॉजी विभाग में ‘डोम’ के छह पदों पर भर्ती के लिए आवेदन देने वालों में करीब 100 इंजीनियर, 500 पोस्ट ग्रेजुएट और 2200 ग्रेजुएट उम्मीदवार हैं। अस्पताल के अधिकारी ने बताया कि कुल आवेदकों में से 84 महिला उम्मीदवारों समेत 784 को एक अगस्त को होने वाली लिखित परीक्षा के लिए बुलाया गया है।