गाजियाबाद लोहा विक्रेता मंडल तीसरी बार अध्यक्ष बने अतुल जैन
गाजियाबाद (युग करवट)। जनपद के समस्त लोहा व्यापारियों का एक सशक्त संगठन गाजियाबाद लोहा विक्रेता मंडल 41 वर्ष पुराना एक प्रमुख व्यापारिक संगठन है। इसकी स्थापना सन 1983 में की गई थी। इसके संस्थापक अध्यक्ष पूर्व महापौर डीसी गर्ग रहे उसके बाद जेडी जैन, बृजनंदन गुप्ता, आनंद प्रकाश, बृजमोहन सिंघल, शिव शंकर राठी अध्यक्ष रह चुके हैं। वर्ष 2016 में अध्यक्षता की जिम्मेदारी अतुल कुमार जैन को दी गई थी। इस तरह वर्ष 2016 में अतुल कुमार जैन अध्यक्ष पद पर निर्विरोध निर्वाचित किए गए थे। वर्ष 2020 में 27 नवंबर को डिप्टी रजिस्ट्रार की देखरेख में संपन्न हुए चुनाव में अतुल कुमार जैन ने अपने प्रतिद्वंद्वी के ऊपर भारी बहुमत से जीत हासिल करके अध्यक्ष पद प्राप्त किया था। उनकी संपूर्ण टीम ने भी भारी बहुमत से जीत हासिल की थी। इस वर्ष 2024 में भी डॉ.अतुल कुमार जैन तीसरी बार संस्था के अध्यक्ष निर्विरोध घोषित किए गए हैं। डॉ.अतुल कुमार जैन के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया था जिसमें सर्वसम्मति से डॉ.अतुल कुमार जैन को अध्यक्ष पद के लिए नामित किया गया और सुबोध गुप्ता को उपाध्यक्ष के लिए अंबरीश जैन को महामंत्री के लिए सतीश बंसल को कोषाध्यक्ष के लिए मोहनलाल अग्रवाल को मंत्री पद के लिए राजीव मंगल और अनुराग अग्रवाल को सदस्य पद के लिए नामित करते हुए नामांकन पत्र जमा कराए गए थे। 18 मई तक का अंतिम समय था नामांकन पत्र भरने का परंतु किसी भी अन्य सदस्य ने किसी भी पद के लिए कोई भी नामांकन पत्र नहीं भरा। चुनाव समिति के सभी चुनाव अधिकारियों ने डॉ.अतुल कुमार जैन पैनल के प्राप्त सभी नामांकन पत्रों की विधिवत जांच करके सभी को वैध पाया, और किसी अन्य नामांकन पत्र प्राप्त ना होने की दशा में डॉ.अतुल कुमार जैन के नेतृत्व वाली टीम को विजयी घोषित कर दिया है। इस प्रकार गाजियाबाद लोहा विक्रता मंडल की नई कार्यकारिणी के लिए डा. अतुल कुमार जैन को अध्यक्ष, सुबोध गुप्ता को उपाध्यक्ष, अंबरीश जैन को महामंत्री सतीश बंसल को कोषाध्यक्ष, मोहनलाल अग्रवाल को मंत्री राजीव मंगल को और अनुराग अग्रवाल को सदस्य पद पर विजयी घोषित किया गया है।

डॉक्टर अतुल कुमार जैन ने एकजुट होकर संगठित तरीके से क्षेत्र और व्यापारियों की सेवा में उन्हें सभी का आवाहन करते हुए अस्वस्थ किया है की नई कार्यकारिणी नए जोश के साथ और बेहतर सेवा के कार्यों में संलग्न रहते हुए जो भी विकास के कार्य बचे हुए हैं उनमें तेजी लाकर के और अच्छे-अच्छे कार्य करके गाजियाबाद के लोहा व्यापार को एक और गरिमामयी स्थान प्राप्त कराने के लिए भरपूर प्रयास करेंगे और गाजियाबाद की लोहा मंडी को एक आदर्श लोहा मंडी के रूप में विकसित कराने के लिए भरसक प्रयास करेंगे।