युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। दिल्ली व एनसीआर में एक दर्जन से अधिक लूटपाट करने के साथ-साथ कल गाजियाबाद के लोनी व टीला मोड़ थाना क्षेत्र में एक डेयरी संचालक व दो ट्रक चालकों से लूट करने वाले गैंग से आज सुबह लोनी पुलिस की मुठभेड़ हो गई। इस दौरान दोनों ओर से गोलियां चलीं। मुठभेड़ के समय एक बदमाश जहां पुलिस की गोली लगने से घायल हो गया वहीं उसके दो साथी फरार होने में कामयाब हो गये। पुलिस ने घायल बदमाश के पास से डेयरी संचालक से लूटे गये १२ हजार, ५०० रुपये, चोरी की बाइक के अलावा तमंचा व कारतूस बरामद किए हैं। साथ ही कई वारदातों का खुलासा भी हुआ। पकड़े गये बदमाश का नाम दानिश निवासी टोली मौहल्ला लोनी है।
उक्त जानकारी देते हुए एसपी देहात डॉक्टर इरज राजा ने बताया कि लोनी थाने के एसएचओ ओपी सिंह को सूचना मिली थी कि एक गैंग लूट की बड़ी वारदात को अंजाम देने वाला है। इस सूचना के मिलते ही एसएचओ ओपी सिंह की टीम ने निठौरा रोड अंडरपास के पास चेकिंग शुरू कर दी। उसी समय तीन बदमाश बाइक पर आते हुए दिखाई दिए। पुलिस ने जब बदमाशों को रोकने का प्रयास किया तो उन्होंने पुलिस पर गोली चलाकर वहां से भागना शुरू कर दिया। पुलिस े ने भी जवाब में गोलियां चलाईं। इस मुठभेड़ में पुलिस की गोली दानिश नामक शातिर लुटेरे को लग गई। श्री राजा ने बताया कि जिस गैंग का दानिश सरगना है, उस गिरोह में पांच शातिर बदमाश शामिल हैं। यह गैंग इतना बेखौफ हो चुका था कि बिना टारगेट फिक्स किये ही किसी को भी सरेराह लूट लेता था। कल भी दानिश ने अपने गैंग के साथ मिलकर पहले सुबह के समय इकरामनगर में स्थित तमन्ना डेयरी पर धावा बोलकर कयाम उर्फ कयामत का गल्ला लूट लिया और उस वारदात के कुछ घंटे बाद ही शाम के समय दो ट्रकों के चालकों व परिचालकों से भी पैसे लूट लिये। यह गैंग दिल्ली व यूपी सहित एनसीआर पुलिस के लिए सिरदर्द व आमजनों के लिए आतंक बन गया था।