गाजियाबाद (युग करवट)। नगर निगम ने डीएमआरसी को 54 करोड़ रुपये का फाइनल बकाया का नोटिस थमाया है। इससे पहले डीएमआरसी को पिछले वर्षकरीब 42 करोड़ रुपये का डिमांड नोटिस थमाया गया था। नगर निगम के मुख्य कर निर्धारण अधिकारी डॉ. संजीव सिन्हा का कहना है कि डीएमआरसी को फाइनल नोटिस दिया गया है। अब नगर निगम इसी नोटिस के आधार पर विभाग से पैसे की मांग कर रहा है। उनका कहना है कि डीएमआरसी से नगर निगम का टैक्स को लेकर कुछ विवाद है। इसके लिए जीडीए, नगर निगम और डीएमआरसी के बीच तीन पक्षीय वार्ता हो चुकी है।
डीएमआरसी का कहना है कि यूपी स्टेट का टैक्स वह नहीं देगा। वहीं नगर निगम के टैक्स विभाग का कहना है कि डीएमआरसी से जो पैसा मांगा जा रहा है वह स्टेट टैक्स नहीं, केवल सर्विस चार्ज है। उन्होंने बताया कि नगर निगम प्रशासन ने एक बार फिर से डीएमआरसी के अधिकारियों से संपर्क साधा है। मुख्य कर निर्धारण अधिकारी डॉ. सिन्हा का कहना है कि जल्दी ही डीएमआरसी के अधिकारियों के साथ बकाया करीब 54 करोड़ रुपये को लेकर बैठक की जाएगी।