अरिहंत एजुकेशनल ट्रस्ट ने किया वस्त्र प्रदर्शनी का आयोजन
युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। नगर पालिका बालिका विद्यालय में अरिहंत चैरिटेबल एजुकेशनल ट्रस्ट द्वारा नि:शुल्क कंप्यूटर व सिलाई प्रशिक्षण के उपरांत वस्त्र प्रदर्शनी का आयोजन किया गया। इस दौरान कार्यक्रम केेमुख्य अतिथि उत्तर प्रदेश के राज्य स्वास्थ्य मंत्री अतुल गर्ग ने छात्राओं को संबोधित करते हुए कहा कि सिर्फ डिग्री लेना ही सफलता की गारंटी नहीं होता। बल्कि उसके लिए कुछ अन्य काम भी सीखने जरूरी हैं ताकि स्किल डेवलपमेंट हो सके और आप जीवन में आगे बढ़ सकें।
ट्रस्ट द्वारा आयोजित वस्त्र प्रदर्शनी में मुख्य अतिथि अतुल गर्ग, विशिष्टï अतिथि युग करवट के प्रधान संपादक सलामत मियां, मेवाड़ ग्रुप के चेयरमैन अशोक कुमार गाडिया ने पहले प्रशिक्षण के बाद छात्रों द्वारा तैयार किए गए वस्त्रों की प्रदर्शनी का अवलोकन किया। इसके उपरांत सभी अतिथियों व ट्रस्ट की अध्यक्ष अलका अग्रवाल ने दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। राज्यमंत्री अतुल गर्ग ने ट्रस्ट और प्रशिक्षण लेने वाली छात्राओं को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि सिर्फ सीखकर घर ना बैठें बल्कि सरकारी योजनाओं के बारे में जानें और इसका लाभ लें। उन्होंने कहा कि कौशल विकास मिशन के तहत सरकार तीस हजार से १० लाख रुपए तक की सहायता राशि प्रदान कर रही है जिससे बालिकाएं आत्मनिर्भर बन सकती हैं। उन्होंने कई सरकारी योजनाओं की जानकारी भी दी। साथ ही स्कूल की डिमांड पर कंप्यूटर नि:शुल्क उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया। विशिष्टï अतिथि युग करवट के प्रधान संपादक सलामत मियां ने कहा कि सरकारी योजनाएं कागजों पर सीमित रह जाती हैं लेकिन प्रयास किया जाए तो इनका लाभ लिया जा सकता है। उन्होंने ट्रस्ट द्वारा किए जा रहे कार्य की सराहना करते हुए प्रशिक्षु छात्राओं की हौंसला अफजाई की। ट्रस्ट की अध्यक्षा अलका अग्रवाल ने कहा कि वह हमेशा से ही समाज के लिए कुछ करना चाहती थीं। प्रयास किया और स्थान मिलने के बाद उन्होंने ऐसे परिवारों की बच्चियों को स्वावलंबी बनाना शुरू कर दिया जो आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों से थीं। उनके प्रशिक्षण का नतीजा यह है कि आज लड़कियां अपने घर बैठे ही सशक्त हो रही हैं। उन्होंने कहा कि उनका सपना है कि जिले की हर लड़की आत्मनिर्भर बने और यह सिलसिला जारी रहे। इस दौरान उन्होंने महिला शक्ति और मुश्किल वक्त विषय को लेकर अपनी स्वलिखित कविताएं भी सुनाईं। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे मेवाड़ ग्रुप के चेयरमैन अशोक कुमार गाडिया ने कहा कि बच्चियों को अगर प्रोत्साहन मिले, वह पंख लगाकर आसमान की ऊंचाई छूने को तैयार हैं। वो दुनिया का कोई भी कमाल कर सकती हैं। उन्होंने बालिकाओं को प्रोत्साहित करते हुए कहा कि आप खुद तय करें कि आपको आत्मनिर्भर बनना है नाकि दूसरों के भरोसे अपना जीवन व्यतीत करना है। जिन्होंने कुछ करने की ठानी है, वह ही आगे बढ़ी हैं। सभी अतिथियों को बुके, मोमेंटो देकर ट्रस्ट अध्यक्ष ने स्वागत किया। तो वहीं छात्राओं ने गणेश वंदना सहित सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी। प्रशिक्षण ले रही छात्राओं ने अपने अनुभव भी बताए। छात्राओं ने इस दौरान खुद से तैयार की गई ड्रेस पहनकर रैंप वॉक किया। बेहतरीन ड्रेस तैयार करने वाली तीन छात्राओं निशी, आयशा और नर्सिंग को अतिथियों द्वारा प्रमाणपत्र प्रदान किए गए। वहीं छात्राओं ने ट्रस्ट अध्यक्ष अलका अग्रवाल को भी उपहार देकर उनका आभार व्यक्त किया। ट्रस्ट द्वारा अतिथि उद्यमी सुभाष गर्ग, उनकी धर्मपत्नी शिल्पा गर्ग, शिक्षाविद् पंकज त्यागी, योग गुरु अनिल जैन को भी सम्मानित किया गया। तो वहीं छात्राओं को सिलाई का प्रशिक्षण देने वाली ट्रेनर लक्ष्मी और नगर पालिका बालिका विद्यालय की प्रिंसीपल हेमलता राजपूत को विशेष रूप से सम्मानित किया गया। इस दौरान उद्यमी सुभाष गर्ग ने ट्रस्ट को सिलाई मशीन देने की घोषणा की। कार्यक्रम का संचालन कवि चेतन आंनद ने किया। इस दौरान संजय अग्रवाल, मंत्री प्रतिनिधि राजेंद्र मित्तल मेंदी वाले, मोहित त्यागी व उद्यमी कमलकांत गोयल आदि मौजूद रहे।