युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। नामचीन एक्टिविस्ट एवं आईपीएस आफिसर अमिताभ ठाकुर की पत्नी नूतन ठाकुर ने मुख्यमंत्री को पत्र भेजकर मांग की थी कि, डासना जेल में बरती जा रही घोर अनियमताओं व भ्रष्टाचार की उच्च स्तरीय जांच निष्पक्ष कमेटी के द्वारा करवाई जाये। साथ ही जेल परिसर के अंदर हुए एक सांस्कृतिक प्रोग्राम के मौके पर जेल नियमावली की उपेक्षा करके बार बालाओं के साथ डिप्टी जेलर अजय कुमार सिंह के द्वारा किये गये नागिन डांस की भी जांच होनी चाहिये। नूतन ठाकुर के द्वारा सीएम और मुख्य सचिव से लेकर डीजी जेल को भेजे गये इस शिकायती पत्र के बाद जहां डासना जेल प्रशासन में हडक़ंप मच गया, वहीं नागिन डांस की चर्चाएं भी शासन के गलियारों में होती दिखाई दे रही हैं।
सोशल एक्टिविस्ट एवं समाजसेविका नूतन ठाकुर द्वारा की गई शिकायत की जांच कब से और किस स्तर पर शुरू होगी और जांच के परिणाम क्या निकलेंगे इसका पता तो कुछ समय बाद ही लग पायेगा, लेकिन श्रीमती ठाकुर के पत्र ने जेल प्रशासन से लेकर शासन तक खलबली तो मचा ही दी है। उधर सूत्रों का कहना है कि इस प्रकरण में डासना जेल के कई अधिकारियों से लेकर जेलकर्मियों के खिलाफ शासन सख्त कार्रवाई कर सकता है। उधर डासना जेल अधीक्षक आलोक सिंह का कहना है कि जेल व्यवस्था में ना तो कोई अनियमता बरती जा रही है और न ही जेल में कोई ऐसा कार्य हो रहा है, जो भ्रष्टाचार से संबंधित हो।