युग करवट संवाददाता
नोएडा। नोएडा के सेक्टर-35 स्थित मोरना डिपो के बाहर परिवहन विभाग और रोडवेज डिपो के अधिकारियों ने डग्गामार वाहनों के खिलाफ एक संयुक्त अभियान चलाया। यह अभियान एआरटीओ प्रवर्तन वीके चौधरी और एआरएम एनपी सिंह ने संयुक्त रूप से चलाया। अभियान के दौरान एआरटीओ प्रवर्तन वीके चौ चैधरी और एआरएम एनपी सिंह ने संयुक्त रूप से 5 डग्गामार बसों को सीज किया। परिवहन विभाग और रोडवेज डिपो की इस संयुक्त कार्रवाई से डग्गामार वाहन संचालकों में काफी हडक़ंप मच गया। मोरना डिपो के एआरएम एनपी सिंह ने बताया कि एआरटीओ प्रवर्तन वीके चैधरी और एआरएम एनपी सिंह ने सेक्टर-35 स्थित मोरना डिपो, नोएडा और ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस-वे पर परिवहन विभाग और रोडवेज अधिकारियों ने एक संयुक्त चेकिंग अभियान चलाया।
अभियान के दौरान परिवहन विभाग और रोडवेज के अधिकारियों ने कई डग्गामार बसों के खिलाफ कार्रवाई की। डग्गामार बसों के चालान कर उन्हें सीज किया गया। डग्गामार बस के परिचालकों से सभी सवारियों के किराए के पैसे वापस कराए। यात्रियों को किसी भी प्रकार की परेशानी ना हो सके। इसके लिए अतिरिक्त बसों की व्यवस्था की गयी। उन्होंनेे बताया कि यात्रियों को रोडवेज की बसों में बैठाकर रवाना किया गया।
सवारियों को भी जागरूक किया गया कि वह स्वयं भी सही बस में सफर करें। अपनी जान जोखिम में डालने से बचें। रोडवेज बस में यात्रियों को स्वयं ही बीमा हो जाता है। हादसा होने की दशा में यात्रियों को सरकारी मदद भी दी जाती है।