प्रमुख संवाददाता
गाजियाबाद (युग करवट)। अब नगर निगम के विद्यालयों में टीचर की नई नौकरी शुरू करने वाले अध्यापक का वेतन ठेके के सफाई कर्मचारियों से कम नहीं मिलेगा। हाल ही में नगर निगम ने न्यूनतम वेतन पॉलिसी बनाई है। इसके तहत किसी भी ठेके के कर्मचारी को 13300 रुपये से कम वेतन नहीं मिलेगा। इसी प्रकार से अब इस दायरे में नगर निगम के विद्यालयों में टीचिंग का कार्य करने वाले नए आध्यापकों को भी न्यूनतम वेतन 13300 के हिसाब से वेतन दिया जाएगा। हाल ही में सवाल उठ रहा था कि नगर निगम अपने नवनियुक्त टीचर को साढ़े आठ हजार रुपये प्रति महीने के हिसाब से वेतन देगा। बीजेपी पार्षद हिमांशु मित्तल ने सवाल उठाया था। उनका कहना था कि हाल ही में नगर निगम ने ठेके पर कार्य करने वाले सफाई कर्मचारियों का वेतन आठ हजार रुपये से 13300 रुपये कर दिया है। मगर नए टीचर को नगर निगम केवल साढ़े आठ हजार रुपये ही वेतन देगा। इस पर नगर आयुक्त महेंद्र सिंह तंवर का कहना है कि नगर निगम ने हाल ही में न्यूनतम वेतन पॉलिसी को लागू किया है। वह भले ही ठेके का नवनियुक्त सामान्य कर्मचारी हो या फिर वह टीचर हो। उनका कहना है कि जब नगर निगम न्यूनतम वेतन बढ़ा चुका है तो टीचर को भी 13300 रुपये प्रति महीना के हिसाब से वेतन दिया जाएगा।