युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। आज से जिले में भी दूसरे चरण में १८ वर्ष से ऊपर आयु वर्ग के लोगों के लिए कोरोना वैक्सीन ड्राइव शुरू हुआ। वैक्सीन लगवाने के लिए सुबह लोगों की भीड़ सेंटर पर उमड़ पड़ी। जबकि हर सेंटर पर महज दो सौ लोगों को वैक्सीन लगवाने का लक्ष्य रखा गया था लेकिन वैक्सीन लगवाने के लिए लक्ष्य से कहीं अधिक लोग पहुंच गए। इसकी वजह से संजयनगर स्थित संयुक्त अस्पताल में काफी हंगामा हो गया। लोग वैक्सीन लगवाने की होड़ में सेंटर के गेट पर पहुंच गए। १८ वर्ष से ऊपर आयु वर्ग के साथ ही ४५ आयु वर्ग और दूसरी डोज़ लगवाने के लिए भी बड़ी संख्या में लोग पहुंचे। भीड़ का आलम यह है कि लाइन अस्पताल के गेट तक पहुंच गई। भीड़ को देखते हुए स्टाफ ने पुलिसकर्मियों की मद्द से तीन अलग लाइन लगवाईं जिसमें एक लाइन में १८ वर्ष से ऊपर आयु वर्ग के लोग दूसरी लाइन में दूसरी डोज़ वाले और तीसरी लाइन ४५ वर्ष से ऊपर वालों के लिए लगवाई गई। तीन लाइन लगने के बाद भी लंबी-लंबी लाइनें परिसर में लगी रहीं। यहां तक कि लोग जल्दी वैक्सीन लगवाने के लिए विवाद करते रहे। जिले में दूसरे चरण में १८ वर्ष से ऊपर आयु वर्ग वालों को वैक्सीन लगाई जा रही है जिसके लिए जिले के १६ केंद्रों को चिन्हित किया गया था जिसमें पीएचसी भोजपुर, सीएचसी लोनी, सीएचसी डासना, सीएचसी मोदीनगर, सीएचसी मुरादनगर, यूपीएचसी इंद्रपुरी, यूपीएचसी महाराजपुर, यूपीएचसी सादिक नगर, यूपीएचसी विजयनगर, कार्टे शास्त्रीनगर, यूपीएचसी ईएसआईसी साहिबाबाद, जिला संयुक्त अस्पताल, जिला महिला अस्पताल, साधना एंक्लेव व पंचशील कॉलोनी भोजपुरा शामिल हैं। इन सभी सेंटर्स को दो सौ वैक्सीन लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है यानि आज ३१०० लोगों को वैक्सीन लगाई जानी है। लेकिन इनमें से कई सेंटर्स पर वैक्सीन लगाई ही नहीं जा रही है। शास्त्री नगर स्थित कार्टे सेंटर को वैक्सीनेशन के लिए चिन्हित किया गया था लेकिन यहां वैक्सीन नहीं लगाई गई।