नई दिल्ली। शुक्रवार देरशाम गृहमंत्री अमित शाह और भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात की। इसकी के साथ केंद्रीय मंत्रिमंडल के विस्तार की आहट सुनाई देने लगी है। यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात के बाद भाजपा के राष्टï्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा प्रधानमंत्री से मिलने उनके आवास पहुंचे। कुछ ही देर बाद गृहमंत्री अमित शाह भी वहां पहुंच गए।
सूत्रों के अनुसार, संसद के मॉनसून सत्र से पहले केंद्रीय मंत्रिमंडल में विस्तार होने जा रहा है। सूत्रों के अनुसार, विस्तार के साथ फेरबदल भी किया जा सकता है। कुछ मंत्रियों को संगठन के कार्यों में लगाया जा सकता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इन दिनों अपने मंत्रियों के कामकाज की समीक्षा कर रहे हैं। शुक्रवार शाम को भी प्रधानमंत्री ने भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा और गृह मंत्री अमित शाह के साथ मिलकर कुछ मंत्रालयों के कामकाज की समीक्षा की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की टीम में अभी उनके अलावा 21 कैबिनेट और 9 राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार और 29 राज्य मंत्री हैं। सूत्रों के अनुसार, जिन लोगों को मंत्रिपरिषद के भावी फेरबदल और विस्तार में शामिल किया जा सकता है, उनमें असम के पूर्व मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल, बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी, सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया, बैजयंत पांडा के नाम चर्चा में हैं। मोदी सरकार में अभी भाजपा के सहयोगी दलों से एक भी कैबिनेट मंत्री नहीं है। ऐसे में कुछ और सहयोगी दलों को भी विस्तार में जगह दी जा सकती है। सूत्रों के अनुसार, इस महीने के आखिर में या अगले महीने की शुरुआत में मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला विस्तार किया जा सकता है।