युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। जिला प्रशासन की तरफ से 19 जुलाई को अपर सिटी मजिस्ट्रेट ने आश्वासन दिया था कि संजय नगर के मुख्य मार्ग की सड़क की मरम्मत का काम तीन दिन के भीतर शुरू करा दिया जाएगा। इस आश्वासन के बाद धरना दे रहे लोगों ने अपना धरना समाप्त कर दिया था। शुरुआती काम भी चालू हो गया था लेकिन तीन माह बीत जाने के बाद भी सड़क नहीं बनी। आश्वासन के बाद भी सड़क नहीं बनने से नाराज सेक्टर-23 संजय नगर के लोगों ने आज एक बार फिर से प्रशासन को ज्ञापन सौंपा। संजय नगर आवासीय कल्याण परिषद की ओर से पिछले एक साल से लगातार प्रमुख मार्ग की मरम्मत का काम शुरू करने की गुजारिश की जा रही है।
आरडब्ल्यूए अध्यक्ष वी के अग्रवाल ने बताया कि नगर निगम द्वारा सीवर डालने के लिए सड़क को तोड़ दिया गया था। लेकिन बाद में उसे नहीं बनाया गया। इस मार्ग पर अबतक दो दर्जन से ज्यादा व्हीकल दुर्घटनाग्रस्त हो चुके हैं। अनेक लोग गिरकर चोट खा चुके हैं। मजबूर होकर पिछले 19 जुलाई को रामलीला मैदान में नगर निगम के खिलाफ परिषद द्वारा एक विशाल धरना रखा गया था। धरने के दौरान जिला प्रशासन की तरफ से अपर सिटी मजिस्ट्रेट प्रदुमन कुमार ने आकर यह आश्वासन दिया था कि 3 दिन के अंदर सड़क निर्माण प्रारंभ कर दिया जाएगा। उनके आश्वासन पर परिषद के सदस्यों ने धरना समाप्त कर दिया था लेकिन आज तीन महीने बीत जाने के पश्चात भी सड़क निर्माण का कार्य प्रारंभ तक नहीं किया गया। संजय नगर आवासीय कल्याण परिषद के सदस्यों ने आज अपर सिटी मजिस्ट्रेट को ज्ञापन देकर उन्हें उनका वायदा याद दिलाया। वीके अग्रवाल ने बताया कि निर्णय लिया गया कि कि यदि जिला प्रशासन में भी इस विषय में अपना पल्ला झाड़ लिया तो मजबूर होकर परिषद पुन संजय नगर में अनिश्चितकालीन धरना शुरू किया जाएगा। ज्ञापन देने वालों अध्यक्ष वीके अग्रवाल, महामंत्री डॉ. हरीश शर्मा, संरक्षक व चेयरमैन प्रदीप गर्ग, सुरेंद्र पाल त्यागी, मोहित चौधरी, डॉ. नीरज गर्ग, हरिओम त्यागी बबली आदि शामिल थे।