नई दिल्ली। वाराणसी के ज्ञानवापी मस्जिद में शिवलिंग मिलने के दावे के बाद कोर्ट ने उस जगह को सील करने का आदेश जारी किया है। वाराणसी कोर्ट ने जिलाधिकारी को ज्ञानवापी मस्जिद में शिवलिंग मिलने के दावे के बाद कोर्ट ने उस जगह को सील करने का आदेश जारी किया है। वाराणसी कोर्ट ने जिलाधिकारी को आदेश देते हुए कहा कि जिस स्थान पर शिवलिंग प्राप्त हुआ है, उस स्थान को तत्काल प्रभाव से सील कर दें और किसी भी व्यक्ति को वहां जाने न दें। इसकी जिम्मेदारी जिला प्रशासन और सीआरपीएफ को दी गई है।
ज्ञानवापी मस्जिद के सर्वे में शिवलिंग मिला या नहीं इसको लेकर अब अलग-अलग दावे सामने आ रहे हैं। ताजा दावा मुस्लिम पक्ष की तरफ से किया गया है, उनका कहना है कि सर्वे में कोई शिवलिंग नहीं मिला। इससे पहले आखिरी दिन का सर्वे पूरा होने के बाद हिंदू पक्ष ने दावा किया था कि ज्ञानवापी मस्जिद में मौजूद तालाब रूपी कुएं में शिवलिंग मिला है। बता दें कि हिंदू पक्ष के वकील विष्णु जैन ने कहा था कि कुएं के अंदर सर्वे के दौरान शिवलिंग मिला है। विष्णु जैन ने आगे कहा कि अब वे शिवलिंग की प्रोटेक्शन लेने सिविल कोर्ट जा रहे हैं।
वहीं हिंदू पक्ष की तरफ से सोहनलाल ने कहा कि मस्जिद में बाबा मिल गए। वहीं कुएं वाली बात पर सवाल पूछे जाने पर हिंदू पक्ष की तरफ से ही मोहन यादव ने कहा कि ज्ञानवापी में वजूखाने या तालाब में 12 फीट 8 इंच व्यास का शिवलिंग मिला है जो अंदर काफी गहरा हो सकता है। कहा गया कि इस शिवलिंग का मुंह नंदी की तरफ है और वजूखाने का पूरा पानी निकालकर इसे देखा गया था।
सूत्रों के मुताबिक, आज सर्वे टीम नंदी के सामने बने तालाब रूपी कुएं की तरफ गई। इससे पहले रविवार को हुए सर्वे में पक्षमी दीवार, नमाज स्थल, वजू स्थल, के अलावा तहखाने में भी सर्वे किया गया था। वाराणसी में ज्ञानवापी मस्जिद को लेकर कोर्ट ने 12 मई को बड़ा फैसला सुनाया था। कोर्ट ने ज्ञानवापी मस्जिद के सर्वे के लिए नियुक्त किए गए एडवोकेट कमिश्नर अजय कुमार मिश्रा को हटाए जाने से इनकार कर दिया था।
हालांकि, अदालत ने कोर्ट कमिश्नर अजय मिश्रा के अलावा विशाल कुमार सिंह को भी कोर्ट कमिश्नर नियुक्त कर दिया था। इसके अलावा अजय सिंह को असिस्टेंट कमिश्नर बनाया गया था। कोर्ट ने 17 मई तक सर्वे की कार्रवाई पूरी करके रिपोर्ट दाखिल करने के लिए कहा था।
आज तीसरे दिन करीब 2 घंटे का काम हुआ। आज सर्वे टीम नंदी के पास के कुएं से लेकर बाकी बचे इलाकों का मुआयना किया। फोटोग्राफी-वीडियोग्राफी हुई। कोर्ट की सख्ती है लिहाजा कोई भी पक्ष सर्वे पर खुल कर नहीं बोल रहा, लेकिन दबी जुबान से दावे जरूर कर रहे हैं। हिंदू पक्ष दावे मजबूत होने की बात कर रहा है तो मुस्लिम पक्ष कुछ न मिलने का दावा कर रहा है। सर्वे में शामिल वकील ने नाम न छापने की शर्त पर बताया था कि तीन कमरों में सर्प, कलश, घंटियां, स्वास्तिक, संस्कृत के श्लोक और स्वान की मूर्तियां मिली हैं, जो उनके लिए सबसे अहम सबूत हैं। इसके अलावा हिंदू मंदिरों के खंभे मिले हैं।