युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। चौरी-चौरा की ऐतिहासिक घटना के सौ वर्ष पूरे होने के अवसर पर मनाए जा रहे आजादी के अमृत महोत्सव के दौरान काकोरी कांड एक्शन की वर्षगांठ पर कार्यक्रम का आयोजन हिंदी भवन में किया गया। कार्यक्रम में काकोरी कांड के शहीदों को श्रद्घांजलि देते हुए मुख्य अतिथि सड़क परिवहन, राष्टï्रीय राजमार्ग एवं नागरिक उड्डयन केंद्रीय राज्यमंत्री व सांसद जनरल वीके सिंह ने कहा कि सभी लोगों को आज से ही संकल्प लेना चाहिए कि वह हमेशा देश के लिए समर्पित रहेंगे और जो लोग देश के लिए समर्पित नहीं होंग,े उनका बहिष्कार करेंगे। कार्यक्रम के शुभारंभ से पूर्व लोहिया नगर स्थित हिंदी भवन से शहीदों की याद में एक प्रभात फेरी निकाली गई जिसे सिटी मजिस्ट्रेट विपिन कुमार व सिविल डिफेंस के चीफ वार्डन ललित जायसवाल ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। प्रभात फेरी में एनसीसी, स्काउट गाइड और स्कूली छात्रों ने प्रतिभाग करते हुए देशभक्ति के नारों का उद्घोष किया। प्रभात फेरी लोहिया नगर के विभिन्न क्षेत्रों से होते हुए वापस हिंदी भवन पर समाप्त हुई।
इसके उपरांत केंद्रीय राज्यमंत्री वीके सिंह, विशिष्टï अतिथि स्वास्थ्य राज्यमंत्री अतुल गर्ग, महापौर आशा शर्मा, डीएम आरके सिंह, सीडीओ अस्मिता लाल ने दीप प्रज्जवलित कर विधिवत कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इस दौरान सांसद वीके सिंह ने कहा कि अगर हम चाहते हैं कि हमारा देश तरक्की करे, विकास करे तो इसके लिए जरूरी है कि हम अपने देश की संस्कृति, इससे आजाद कराने के लिए अपना खून बहाने वाले शहीदों, क्रांतिकारियों और वीर सैनिकों के बारे में जानें, देश का इतिहास जानें, तभी कोई देश आगे विकास कर सकता है। युवा यह जान लें कि देश को आजादी यूं ही नहीं मिल गई थी, इसके लिए लंबी लड़ाई हुई और हजारों ने अपनी कुर्बानियां दीं जिनमें बहुतों को देश जान भी नहीं सका। उन्होंने कहा कि गोल्ड जीतने के बाद नीरज चोपड़ा ने जिस तरह तिरंगे का सम्मान किया, वह देश के प्रति उनके जज्बे को दिखाता है। वीके सिंह ने कहा कि पदमश्री पुरस्कारों की लिस्ट में इस बार किसी नेता या फिल्मी अभिनेता का नाम नहीं है बल्कि उन लोगों के नाम हैं जो समाज सेवा से जुड़े हैं, यह है बदलते भारत की तस्वीर।
स्वास्थ्य राज्यमंत्री अतुल गर्ग ने कहा कि जब देश में आजादी के लिए लड़ाई लड़ी गई, तब संचार के अधिक साधन नहीं थे। देश में कहां क्या चल रहा है, लोगों को अधिक पता तक नहीं चल पाता था। फिर देश को आजाद कराने के लिए क्रांतिकारियों ने जो आंदोलन शुरू किया, उसे पूरा करके ही दम लिया। महापौर आशा शर्मा ने कहा कि देश के युवाओं को सच जानना बेहद जरूरी है। काकोरी कांड आरएसएस के समर्थन की घटना नहीं थी बल्कि देश के क्रांतिकारियों व वहां के किसानों की लड़ाई थी। सही घटना का पता होना युवाओं के लिए बेहद जरूरी है। जबकि आज तक भी युवा पीढ़ी को इस घटना के बारे में गलत तरीके से ही बताया जा रहा है। डीएम आरके सिंह ने कहा कि यह ना सोचें की देश ने आपको क्या दिया बल्कि यह सोचें कि देश को आपने क्या दिया। देश के प्रति अपने नजरिए को बदलने की जरूरत है।
देशभावना के तहत ही हमें कार्य करने चाहिएं। सीडीओ अस्मिता लाल ने कहा कि देश को आजाद कराने के लिए बहुत कुर्बानियां हुई हैं। उन शहीदों को सिर्फ याद ही नहीं करना बल्कि देश की युवा पीढ़ी को इसके बारे में जानकारी देने के लिए आयोजन किया जा रहा है। सांस्कृतिक कार्यक्रमों की श्रंखला में छात्रों ने गणेश वंदना, सरस्वती वंदना प्रस्तुत की तो वहीं देशभक्ति पर आधारित कार्यक्रम भी प्रस्तुत किए गए। सिंगर गौरव ने देशभक्ति के गीत प्रस्तुत किए। इसके उपरांत सभी ने अमृत महोत्सव को लेकर पीएम नरेन्द्र मोदी और सीएम योगी आदित्यनाथ के लाइव संबोधन को सुना। कार्यक्रम में एडीएम प्रशासन ऋतु सुहास, सीएमओ डॉ.भवतोष शंखधर, सिटी मजिस्ट्रेट विपिन कुमार, एसीएम विनय कुमार, एसीएम प्रवर्धन शर्मा, सिविल डिफेंस के चीफ वार्डन ललित जायसवाल, डीआईओएस प्रतीक द्विवेदी, एडीआईओएस ज्योति दीक्षित, डिप्टी चीफ वार्डन अनिल अग्रवाल व सांसद प्रतिनिधि कुलदीप चौहान आदि मौजूद रहे।