युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। प्रताप विहार में नाला निर्माण के दौरान स्कूल की दीवार गिरने से तीन मजदूरों की मौत हो गई थी, इस घटना में कई मजदूर घायल भी हुए थे। इस मामले को लेकर डीएम आरके सिंह ने सिटी मजिस्ट्रेट गंभीर सिंह की अध्यक्षता में जांच कमेटी गठित की थी। कमेटी ने अपनी जांच पूरी कर रिपोर्ट तैयार कर ली है जो आज सौंपी जाएगी। इस जांच में प्रथम दृष्टïया इस घटना के लिए जेसीबी ड्राइवर की लापरवाही उजागर हुई है। जेसीबी ड्राइवर ने स्कूल की दीवार को तोड़ दिया था। ऐसे में इस मामले में सम्भवत: जेसीबी ड्राइवर को मुख्य आरोपी माना जा रहा है। हालांकि इस मामले में ठेकेदार और जेई पर भी गाज गिर सकती है। जांच के दौरान कई ऐसे तथ्य सामने आए हैं जिनमें इन दोनों की लापरवाही सामने आई है। जांच के दौरान पाया गया कि रात के वक्त नाले निर्माण करने के दौरान घोर लापरवाही बरती गई थी, सुरक्षा के भी इंतजाम नहीं थे। इस दौरान निर्माण कार्य कर रही फर्म नॉर्थ इंडिया डवलपर्स और नगर निगम के अधिकारियों की भी लापरवाही सामने आई है। इस मामले में जांच कमेटी ने सभी सम्बंधित अधिकारियों, मजदूरों, घटना के बाद मौके पर पहुंचे अधिकारियों के भी लिखित में बयान दर्ज कर रिपोर्ट तैयार की है, जो आज डीएम को सौंप दी जाएगी। मामले में ठेकेदार और निगम अधिकारियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई जा चुकी है। जांच रिपोर्ट मिलने के बाद अब आगे की कार्रवाई की जाएगी व दोषियों के खिलाफ कड़ा एक्शन लिया जाएगा।