ग्रेटर नोएडा (युग करवट)। गौतमबुद्ध नगर लोकसभा सीट से सांसदीय का चुनाव लड़ रहे बहुजन समाजवादी पार्टी (बसपा) के प्रत्याशी राजेंद्र सिंह सोलंकी ने शुक्रवार को जेवर विधानसभा क्षेत्र के गांवों में समर्थकों के साथ जनसंपर्क कर 26 अप्रैल को बसपा के पक्ष में मतदान करने की अपील की। इस दौरान बसपा प्रत्याशी ने गांव दनकौर, उस्मानपुर, रिलखा, अछेजा, चपरगढ़, रामपुर बांगर, खेरली भाव, मिलक, मिर्जापुर, नीलोनी सहित अन्य ग्रामों में मतदाताओं से संपर्क किया। आज जेवर विधान सभा में हुए तूफानी दौरे से आभाष हुआ शहरी मतदाता के साथ में ग्रामीण मतदाता भी राजेंद्र सिंह सोलंकी की बेबाक छवि के दीवाने होते नजर आ रहे हंै। गुरूवार को बसपा प्रत्याशी ने नोएडा विधानसभा क्षेत्र के ग्राम चौड़ा, गढ़ी, कोंडली, बदोली, जट्टा, मोहियापुर, गुलावली, मंगरोली, छपरौली, वाजिदपुर सहित अन्य जगहों पर समर्थकों के साथ जनसंपर्क किया।
आज दनकौर से बसपा प्रत्याशी ने समर्थकों के साथ चुनाव प्रचार की शुरूवात की। यहां पहुंचने पर मतदाताओं ने कई जगहों पर उनका भव्य स्वागत करते हुए भारी मतों से विजयी बनाने का भरोसा दिया। स्वागत करने में महिलाएं भी पीछे नहीं रही। इस दौरान उन्होंने कहा कि स्थानीय सांसद ने क्षेत्र का विकास ना करके केवल अपने अस्पतालों और अन्य व्यवसायों का विकास किया है। क्षेत्र में विकास ना करके मेरे अपने क्षेत्रवासियों के साथ अन्याय किया है। गत चुनावी दौर में लोगों से झूठे आश्वासन कर लोगों के साथ ठगी की है, जिसे क्षेत्रवासी अब पहचान चुके हैं। इसलिए अब क्षेत्र की जनता सांसद का बदलाव करने का मन बना चुकी है। दैनिक युग करवट के साथ बातचीत में राजेंद्र सिंह सोलंकी ने कहा कि इस चुनाव में युवाओं की सक्रियता बहुत नजर आ रही है। क्षेत्र का बच्चा-बच्चा यह कह रहा है यह चुनाव राजेंद्र सिंह सोलंकी नहीं हम लड़ रहे है। इस दौरान ग्रामीणों ने राजेंद्र सिंह सोलंकी को फूलों की माला व पगड़ी पहनाकर उनका भव्य स्वागत किया। जनसंपर्क के दौरान जेवर के गांवों में बसपा प्रत्याशी के समर्थन में उमड़ी भीड़ ने इस बात का संकेत दिया कि आने वाला वक्त बहुजन समाजवादी पार्टी के लिए बेहतर होगा। उस्मानपुर गांव में आयोजित कार्यक्रम में बसपा प्रत्याशी राजेंद्र सिंह सोलंकी ने प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री बहन मायावती के कार्यकाल के दौरान क्षेत्र में किए गए विकास कार्यों की जानकारी दी।
्रउन्होंने कहा कि बसपा सुप्रीमो बहन मायावती की पहचान एक कुशल प्रशासक के रूप में रही है।