युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। लॉकडाउन के दौरान जीडीए की इनकम ना के बराबर हुई है। ऐसे में जीडीए सहित कई विभागों में इस बार पिछले महीने का वेतन रिलीज़ करने में परेशानी हो सकती है। इनमें केवल जीडीए ही शामिल नहीं है बल्कि कई सरकारी विभाग भी शामिल हैं।
लॉकडाउन के दौरान कई सरकारी विभागों की इनकम में काफी गिरावट आई है। इसमें नगर निगम भी शामिल है। नगर निगम लॉकडाउन के चलते हाउस टैक्स की रिकवरी नहीं कर पाया है और पिछले महीने भी नगर निगम के पास पैसे की किल्लत थी। वेतन रिलीज़ करने के लिए नगर निगम ने शासन से करीब 12 करोड़ रुपये की रकम ली थी। इस बार भी ऐसे ही हालात बने हुए हैं और नगर निगम को कर्मचारियों और अधिकारियों का वेतन जारी करने के लिए शासन से ही पैसे लेने होंगे। जीडीए ने पिछले महीने कर्मचारियों को वेतन सात तारीख के कई दिन बाद रिलीज़ किया था। इस महीने भी जीडीए की इनकम में काफी गिरावट आई है और जीडीए को अपने खर्च में कटौति करनी पड़ रही है। संभावना है कि जीडीए कर्मचारियों को इस महीने भी सात जून के कई दिन बाद ही वेतन मिल पाएगा। जल निगम की बात करें तो इस विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों को पिछले चार महीनों से वेतन तक नहीं मिला है। रोडवेज की भी स्थिति काफी परेशान करने वाली है। लॉकडाउन के दौरान रोडवेज की इनकम में काफी गिरावट आई है। रीजऩ को प्रतिदिन करीब 80 लाख रुपये रोज़ का नुकसान हो रहा है। रोडवेज का कहना है कि कई जनपदों में अनलॉक की प्रक्रिया शुरू होने के बाद स्थिति में थोड़ा सुधार हो सकता है। ऐसे में रोडवेज में भी वेतन देर से जारी होने की संभावना है।