युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। जीडीए में चीफ इंजीनियर की खाली पड़ी कुर्सी को लेकर अब लखनऊ में घमासान तेज हो गया है। चार इंजीनियरों के बीच जीडीए में पॉस्टिंग को लेकर मारामारी तेज हो गई है। इनमें चक्रेश जैन, इंदू शेखर सिंह, नरेंद्र कुमार चौधरी, आरके सिंह शामिल है। पिछले महीने ही जीडीए में चीफ इंजीनियर वीएन सिंह का तबादला हुआ है। तब से यह कुर्सी खाली चल रही है। जीडीए के चीफ इंजीनियर वीएन सिंह के तबादला होने के बाद से एक नाम सबसे चर्चा में है। वह इंदू शेखर सिंह का। उनका नाम गाजियाबाद में पॉस्टिंग को लेकर सबसे पहले से चला आ रहा है। वह कानपुर विकास प्राधिकरण में चीफ इंजीनियर के पद पर तैनात है। उनका परिवार पटेल नगर में ही रहता है।
सूत्रों का दावा है कि अभी भी इंदू शेखर सिंह का नाम चीफ इंजीनियर की कुर्सी की दौड़ में सबसे आगे चल रहा है। वहीं चक्रेश जैन का परिवार भी गाजियाबाद में ही रहता है। इंदूशेखर सिंह और जैन दोनों गाजियाबाद में अधिशासी अभियंता के पद पर रह चुके है। अब चक्रेश जैन की कोशिश के बीच नरेंद्र कुमार चौधरी तथा एक अन्य इंजीनियर आरके सिंह भी जीडीए के चीफ इंजीनियर बनने की दौड़ में शामिल है। दूसरी और सूत्रों का दावा है कि शासन से अगले सप्ताह चीफ इंजीनियर के पद पर नई तेनाती हो सकती है।