युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। जीडीए द्वारा शहर की सोसायटीज से निकलने वाले ठोस अपशिष्टï के निस्तारण को लेकर जारी किए जा रहे नोटिस के विरोध में फेडरेशन ऑफ राजनगर एक्सटेंशन, गाजियाबाद फ्लैट ओनर्स फेडरेशन सहित करीब २०० फेडरेशन एकजुट हो गई हैं। फेडरेशन ने जीडीए की इस कार्रवाई का कड़ा विरोध जताया है। फ्लैट ओनर्स फेडरेशन के चेयरमैन टीपीएस त्यागी ने कहा कि जीडीए के अधिकारी अपने कार्यप्रणाली में सुधार करें और आरडब्ल्यूए के बजाए बिल्डर को नोटिस जारी कर उनसे नियम पूरे कराएं। राजनगर एक्सटेंशन सोसायटी में करीब डेढ़ लाख निवासी रहते हैं, यह जीरो डिस्चार्ज जोन है जिनसे किसी भी प्रकार का अपशिष्टï बाहर नहीं किया जा सकता, इसी शर्त पर बिल्डर्स को नक्शा पास किया जाता है। लेकिन जीडीए ने एक बार भी बिल्डर को नोटिस जारी नहीं किया। फेडरेशन ऑफ राजनगर एक्सटेंशन एओए के अध्यक्ष सचिन त्यागी ने कहा कि हाई राइज सोसाइटीज में अधिकतर में न तो एसपीटी और न ही वॉटर हार्वेस्टिंग ठीक प्रकार से काम कर रहे हैं। इसके अलावा कूड़े के निस्तारण के लिए बिल्डर ने कोई प्लांट नहीं लगाया है। ऐसे में बिल्डर से सांठगांठ कर उसे तो एनओसी जारी कर दी जाती है, लेकिन उसके बाद अपार्टमेंट ओनर्स के जरिए लोगों को परेशान किया जाता है। सभी फेडरेशन प्रतिनिधियों ने एक स्वर में जीडीए की कार्रवाई का विरोध करते हुए नोटिस जारी करने की कार्रवाई पर रोक लगाने की मांग की है। इस दौरान महासचिव गणेश्वर रलहन, प्रवक्ता राजकुमार त्यागी, मोहित नारायण आदि मौजूद रहे।