युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। महानगर टैक्स बार एसोसिएशन द्वारा एक सेमीनार का आयोजन किया गया। सेमीनार का विषय ‘सर्च एंड सिल्जोर विद् सेक्शन ७३-७४ ऑफ जीएसटी एक्ट २०१७’ रखा गया। जिस पर वक्ताओं ने अपने विचार रखे। कार्यक्रम का शुभारंभ इलाहाबाद हाईकोर्ट के जज पीयूष अग्रवाल, एनआईआरसी, आईसीएआई सदस्य सीए नव्या मल्होत्रा ने दीप प्रज्जविलत कर किया। टैक्स बार द्वारा अतिथियों का स्वागत बुके देकर किया गया। इस दौरान वक्ताओं ने जीएसटी एक्ट को लेकर आने वाली समस्याएं रखीं और उसमें संशोधन को लेकर कई सुझाव दिए। न्यायाधीश पीयूष अग्रवाल ने भी जीएसटी एक्ट को लेकर विस्तार से जानकारी दी। वहीं सीए नव्या मल्होत्रा ने जीएसटी एक्ट में खामियों को लेकर चर्चा की। उन्होंने कहा कि समय-समय पर जीएसटी एक्ट में संशोधन किए गए हैं, लेकिन अभी भी कई खामियां है जिसकी वजह से दिक्कतें हैं, सरकार को इसके बारे में कई बार अवगत कराया जा चुका है। महानगर टैक्स बार एसोसिएशन के अध्यक्ष पुष्पेन्द्र भारद्वाज ने कहा कि अगर एक्ट में संशोधन किए जाए तो, जहां लोगों की दिक्कतें कम होंगी वहीं सरकार को भी राजस्व मिलने में देरी नहीं होगी। इस मौके पर एसोसिएशन के जनरल सेकेट्ररी सुवृत त्रिखा, अश्वनी कुमार मित्तल, अजय मित्तल, संजीव कुमार गोयल, योगेन्द्र कुमार, नितिन अरोड़ा आदि मौजूद रहे।