युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। जिला पंचायत सदस्य के चुनाव में सबसे अधिक बसपा समर्थित प्रत्याशियों ने जीत दर्ज की है। तो वहीं रालोद और सपा के प्रत्याशियों ने अपने प्रतिद्वंदियों को कड़ी टक्कर देते हुए जीत का परचम लहराया है। कोई प्रत्याशी करीबी मुकाबले से तो किसी ने एकतरफा जीत हासिल कर अपने प्रतिद्वंदियों को मात दी है।
बात करें वार्ड एक से तो यहां पर बसपा के अमरपाल ने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी को ६७५ वोटों से हराकर जीत हासिल की है। वार्ड दो से बसपा प्रत्याशी आसिफ चौधरी ने ३ हजार, ५२६ वोटों से जीत दर्ज की है। वार्ड-३ पर भी बसपा प्रत्याशी अनिल गौतम ने ९७० वोटों से जीत हासिल की है। वहीं बसपा प्रत्याशी वार्ड पांच से शौकेंद्र ने वोटों के बड़े अंतर से जीत दर्ज की है। शौकेंद्र ने ९ हजार, २३२ वोटों से जीत दर्ज की जो सबसे अधिक मत प्रतिशत माना जा रहा है। शौकेंद्र ने एकतरफा जीत हासिल की है। बसपा की प्रिया सिंह ने वार्ड आठ से कम अंतरों से जीत हासिल की है। प्रिया सिंह को अपने प्रतिद्वंदी से २९४ वोट अधिक मिले हैं। वहीं वार्ड- ४ से रालोद समर्थित दया ने ७८५ वोट से जीत दर्ज की है। वार्ड नौ से रालोद की बबली देवी को २ हजार, ५७८ वोटों से जीत मिली है। तो वहीं वार्ड-१४ से भाजपा समर्थित ईश्वर मावी की पुत्रवधु अंशु मावी ने ३३०० वोटों से जीत हासिल की है।
इस वार्ड से भाजपा से बागी हो चुकी पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष लक्ष्मी मावी भी चुनाव में खड़ी थीं लेकिन अंशु मावी ने लक्ष्मी मावी को कड़ी टक्कर दी और जीत हासिल की। वहीं वार्ड-१३ से भाजपा समर्थित ममता त्यागी ने ९०७ मतों से जीत हासिल की है। वार्ड-६ से सपा समर्थित मीनू यादव ने १४०० वोटों से अपने प्रतिद्वंदी को हराकर जीत प्राप्त की। सपा से समर्थित वार्ड-१० की प्रत्याशी नसीम बेगम ने भी करीब छह सौ वोटों से जीत हासिल की है।