युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। निर्बल, गरीबों व असहाय लोगों को सस्ता व सुलभ न्याय दिलवाने के लिये आज आयोजित की गई राष्टï्रीय लोक अदालत का शुभारंभ डिस्ट्रिक जज और जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष जितेंद्र कुमार सिन्हा ने फीता काटकर व दीप प्रज्जवलित कर किया।
इस मौके पर राष्टï्रीय लोक अदालत के महत्व के संदर्भ में जानकारी देते हुए जिला जज श्री सिंहा ने दैनिक युग करवट को बताया कि इस अदालत का उदï्ेदश्य लोगों को सस्ता, सुलभ व त्वरित न्याय दिलवाना है। श्री सिन्हा ने बताया कि इस बार राष्टï्रीय लोकअदालत को संपूर्ण रूप से सफल बनाने के लिये न्याय विभाग के अलावा सभी विभागों के अधिकारियों व कर्मचारियों ने अपनी पूर्ण निष्ठा व मनोयोग से कार्य किया। श्री सिन्हा ने बताया कि आज आयोजित हो रही राष्टï्रीय लोक अदालत में एक लाख, तीस हजार वाद के निस्तारण देने का लक्ष्य रखा गया है।
श्री सिन्हा ने बताया कि उनकी सतï्त कोशिश होगी कि लक्ष्य को संपूर्ण रूप से प्राप्त किया जाये।
इस मौके पर महिला जज और राष्टï्रीय लोक अदालत की नोडल अधिकारी श्रीमती रीता ने बताया कि आज जिन एक लाख तीस हजार वाद का निस्तारण होना है, उनमें ९५ हजार रेवन्यू के और ३५ हजार विधिक मामले शामिल हैं।
उन्होंने बताया कि उनका पूरा प्रयास रहेगा कि राष्टï्रीय लोक अदालत के लिये चिन्हित किये गये वादों में से अधिकांश वाद का निस्तारण कर दिया जाये। अपर जिला जज श्रीमती रेखा ने बताया कि राष्टï्रीय लोक अदालत के सामने प्रस्तुत होने वाले सभी वाद आज ही निस्तारित कर दिए जायेंगे।
उन्होंने बताया कि राष्टï्रीय लोक अदालत का उदï्देश्य सभी को सस्ता व सुलझा न्याय प्रदान करना है। राष्टï्रीय लोक अदालत के शुभारंभ के समय मौजूद एडीएम सिटी शैलेंद्र कुमार सिंह ने बताया कि राष्टï्रीय लोक अदालत को पूरी तरह से सफल बनाने के लिये जिला प्रशासन व पुलिस विभाग ने पूरी ताकत झोंक दी थी। साथ ही उन्होंने सभी विभागों के अधिकारियों के साथ गोष्ठी कर उन्हें ब्रीच भी किया था।
बार एसोसिएशन के अध्सक्ष मुनीश कुमार त्यागी ने कहा कि राष्टï्रीय लोक अदालत ऐसे लोगों के लिये बहुत ही लाभदायक है जो कानूनी लड़ाई को लंबे समय तक लडऩे में अक्षम हैं। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव नेहा रुंगटा ने कहा कि राष्टï्रीय लोक अदालत का उदï्देश्य सबको मिले सस्ता व सुलभ न्याय और न्याय के बाद ना किसी की जीत और ना किसी की हार है। राष्टï्रीय लोक अदालत के शुभारंभ के अवसर पर जज, न्यायायिक अधिकारी, जिला प्रशासन के अधिकारी, अधिवक्तागणों के अलावा कई विभागों के अधिकारी व न्यायायिक कर्मचारी मौजूद रहे।