युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। जिला अस्पताल में जिले का सबसे बड़ा ऑक्सीजन प्लांट लगेगा। यह प्लांट एक हजार प्रति मिनट ऑक्सीजन बनाने वाला होगा। बता दें कि जिले में कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर से निबटने के लिए ११ ऑक्सीजन प्लांट तैयार किए जा रहे हैं जिसमें अब तक छह ऑक्सीजन प्लांट बनकर तैयार हो गए हैं। हालांकि, इन सभी प्लांट की क्षमता डेढ़ सौ से पांच सौ एलएमपी तक है। ऐसे में अगर बड़े स्तर पर संक्रमित मरीज सामने आए तो ऑक्सीजन को लेकर थोड़ी किल्लत हो सकती है।
ऐसे में जिला अस्पताल में पीएम केयर फंड से एक हजार एलएमपी का ऑक्सीजन प्लांट बनाए जाने की तैयारी की जा रही है। इस प्लांट को लगाने के लिए हाल ही में सिविल वर्क के लिए भूमि पूजन किया जा चुका है। एक हजार एलएमपी का ऑक्सीजन प्लांट बनने से बड़ी मात्रा में ऑक्सीजन की सप्लाई हो सकेगी। अस्पताल में भर्ती मरीजों के अलावा इसमें काफी ऑक्सीजन अन्य अस्पतालों को दी जा सकेगी। सीडीओ अस्मिता लाल ने बताया कि एक हजार एलएमपी का यह प्लांट जिले में सबसे बड़ा प्लांट होगा जिससे काफी संख्या में ऑक्सीजन उपलब्ध हो सकेगी। अक्टूबर में कोरोना की तीसरी लहर की आशंका व्यक्त की जा रही है, ऐसे में अस्पतालों के अलावा बेहद जरूरी माने जाने वाली ऑक्सीजन को लेकर भी तैयारी की जा रही है।
इसके लिए जिले में ११ ऑक्सीजन प्लांट लगाए जा रहे हैं जो तीनों बड़े सरकारी अस्पताल के अलावा ग्रामीण क्षेत्रों की सीएचसी-पीएचसी पर भी लगाए गए हैं। वर्तमान में छह ऑक्सीजन प्लांट संचालित हो चुके हैं और बाकी के प्लांट हर हाल में ३० अगस्त तक पूरे कर लिए जाएंगे।