युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। भाजपा युवा मोर्चा के नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष प्रांशु दत्त द्विवेदी ने कहा कि बसपा का ब्राह्मïण सम्मेलन और सपा का परशुराम सम्मेलन मात्र दिखावा है।
पीडब्ल्यूएडी गेस्ट हाउस में पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि मायावती आज किस मुहं से ब्राह्मण सम्मेलन करने की बात कर रही है। सबको पता है कि गेस्ट हाउस कांड में स्व. ब्रह्मïदत्त द्विवेदी ने उनकी जान बचाई थी। लेकिन मायावती ने उनके परिजनों के साथ क्या किया। परिवार के सदस्यों को सरेआम अपमानित किया गया। बसपा शासनकाल में खुद मुझपर कई मुकदमें लादे गए थे। रासुका तक लगाया था। 8 महीने अकारण जेल में रखा गया था। क्या जान बचाने का अहसान ऐसा होता है। प्रांशु ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बिना किसी भेदभाव के कार्य कर रहे हैं। उनके कार्यकाल में ब्राह्मïणों के साथ न तो अन्याय हुआ है और ना ही ब्राह्मïणों की अनदेखी हुई है। भाजपा राष्ट्रवादी पार्टी है। वह कभी जाति की राजनीति नही करती है।
उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता ने सपा सरकार में खुली गुंडागर्दी और दहशतगर्दी देखी है। सरकारी नौकरियों की भर्ती में भ्रष्टाचार की तो कोई सीमा ही नहीं थी। पूरे प्रदेश में जाति और मजहब के नाम पर उन्माद को भड़काया गया। सपा शासनकाल में मुख्यमंत्री ने थाने तक रिश्तेदारों और परिवारजनों के नाम कर दिये थे। प्रांशु ने कहा कि भाजपा शासनकाल में कानून का राज है। कानून से बढ़कर कोई नहीं है। सपा शासनकाल में जिन माफिया और गुंडों के घर के पास से पुलिस नहीं गुजरती थी, अब महज चार सिपाही की मौजूदगी में उनके अवैध मकानों को ढहाया जा रहा है। किसान आंदोलन को लेकर प्रांशु द्विवेदी ने कहा कि योगी सरकार ने अभूतपूर्व निर्णय करते हुए समय से पहले ही गन्ना और गेहूं का भुगतान कर दिया है। तीन नए कृषि सुधार कानूनों को लेकर कुछ लोग आंदोलन कर रहे हैं लेकिन उनको आम किसानों का समर्थन हासिल नहीं है। आम किसान खेतों में फसल उगा रहा है और किसानों के नाम पर राजनीति करने वाले धरने पर बैठे है। प्रांशु द्विवेदी ने कहा कि 2022 विधानसभा चुनाव में भाजपा 350 से ज्यादा सीटों पर विजयी होकर प्रदेश में दोबारा सरकार बनाएगी। महानगर अध्यक्ष गौरव चोपड़ा भी थे।