नगर संवाददाता
गाजियाबाद (युग करवट)। मेरठ मंडल की आयुक्त सेल्वा कुमारी जे ने संचारी रोग नियंत्रण अभियान की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को निर्देश दिए कि आम जन को अधिक से अधिक जागरूक किया जाए, तभी संचारी रोगों पर नियंत्रण सम्भव है। उन्होंने कहा कि हम सभी की जिम्मेदारी है कि हम लोगों को संचारी रोग के प्रति जागरूक करें, इसके लिए यह दस्तक अभियान चलाया जाता है। लोगों को जानकारी होनी चाहिए कि संचारी रोग पर किस प्रकार से नियंत्रण किया जा सकता है। हमें अपने आस-पास किसी प्रकार से गन्दगी नहीं होने देनी है, गमले, कूलर, फ्रीज आदि में पानी जमा नहीं होना चाहिए। इसके साथ ही अन्य बातों का भी ध्यान रखना चाहिए। एनिमल बर्थ कंट्रोल सेन्टर की बैठक लेते हुए मंडलायुक्त ने कहा कि जानवरों की सुरक्षा के लिए उच्चतम न्यायालय द्वारा नियम बनाए गए हैं। उनक अनुपालन डॉग्स लवर और एओए के साथ आपसी समन्वय बनाकर किया जाए। निगम द्वारा जल्द ही दूसरा एबीसी सेन्टर बनाया जा रहा है, तीसरे के लिए भी प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। सभी लोगों के सहयोग से डॉग्स बाइट के मामले समाप्त हो जाएंगे। बैठक में डीएम इन्द्र विक्रम सिंह, नगरायुक्त विक्रमादित्य सिंह मलिक, सीडीओ अभिनव गोपाल, सीएमओ डॉ.भवतोष शंखधर आदि मौजूद रहे।
बैठक में आरडब्ल्यू ने भी रखे सुझाव
गाजियाबाद (युग करवट)। मंडलायुक्त सेल्वा कुमारी जे की बैठक में आरडब्ल्यू ने भी अपने सुझाव रखे। इस दौरान फेडरेशन के चेयरमैन कर्नल टीपी त्यागी, आईसी जिंदल, अनुराधा शर्मा, तरूण चौहान, सुमित चौधरी, संजय सिंह, ने कई बिन्दु रखे। इसमें कहा गया कि सोसाटियों में कुत्तों के लिए फीडिंग प्वाइंट का निर्धारण एओए और नगर निगम मिल करेंगे।
इसके अलावा कूडा निस्तारण के लिए सैनिटरी लैंड फिल्ड, सीवर ब्लॉकेज, स्ट्रीट लाइट फंक्शनिंग, पोट होल रिपेयर के लिए कमेटी का गठन किया जाए और वार्षिक रखरखाव पर ठेके छोडे जाएं। फीडिंग पाइंट के लिए मंडलायुक्त ने डॉग लवर से भी रॉय लेने के बात कहीं। इतना ही नहीं पेट डॉग को सार्वजनिक स्थानों पर लाने के लिए नियमों का पालन न होने पर एसोसिएशन को कार्रवाई का अधिकार दिए जाने की भी मांग फेडरेशन ने रखी।