युग करवट ब्यूरो
नई दिल्ली। बृजभूषण शरण सिंह पर महिला पहलवानों के साथ यौन शोषण, मानसिक रूप से परेशान करने समेत कई आरोप लगाते हुए जंतर-मंतर पर प्रदर्शन कर रहे पहलवानों ने खेल मंत्री अनुराग ठाकुर से बातचीत के बाद इसे वापस ले लिया है। खेल मंत्री ने कहा कि सर्वसम्मति से निगरानी कमेटी के गठन का फैसला लिया गया है ये कमेटी चार हफ्ते में डब्ल्यूएफआई अध्यक्ष पर लगे आरोप की जांचकर अपनी रिपोर्ट सौंप देगी। खेल मंत्री ने ये भी कहा कि जांच पूरी होने तक डब्ल्यूएफआई अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह संघ के दैनिक कार्यों से दूर रहेंगे। इस कमेटी की कमान एमसी मैरी कॉम को सौंपी गई है और अलकनंदा अशोक उपाध्यक्ष होंगी। सहदेव यादव, डोला बनर्जी और योगेश्वर दत्त के साथ ही अधिवक्ता श्लोक चंद्र और तलिश रे भी कमेटी के सदस्य होंगे।

वीके सिंह ने उठाए मंशा पर सवाल
डब्ल्यूएफआई अध्यक्ष पर लगे आरोप को लेकर केंद्रीय राज्यमंत्री जनरल वीके सिंह ने कहा है कि कई बार आरोप गंभीर लगते हैं तो कई बार गंभीर लगवाए भी जाते हैं। उन्होंने कहा कि कई बार गंभीर आरोप लगाने के पीछे मंशा भी दूसरी हो सकती है। जनरल वीके सिंह ने कहा कि घटना के पीछे जाकर देखने की कोशिश करनी चाहिए।