नोएडा (युग करवट)। जल निगम के एक अधिकारी को हनीट्रैप में फंसाकर उनसे लाखों रुपये की रंगदारी वसूलने का प्रयास कर रही एक महिला समेत तीन लोगों को थाना बीटा-2 पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पुलिस आयुक्त आलोक सिंह के मीडिया प्रभारी पंकज कुमार ने बताया कि खुर्जा के रहने वाले नागेश कुमार नामक व्यक्ति ने गौतमबुद्ध नगर पुलिस से शिकायत की थी कि कुछ लोगों ने सोशल मीडिया के माध्यम से उन्हें संपर्क किया, तथा ग्रेटर नोएडा के परी चौक पर बुलाया। इन लोगों के साथ एक महिला थी। महिला थाना बीटा-2 क्षेत्र में स्थित एक ओयो होटल में उन्हें लेकर गई। वहां पर इन लोगों ने महिला के साथ उनकी अश्लील वीडियो बना ली। उन्होंने अपने आप को क्राइम ब्रांच के अधिकारी बताया तथा उन्हें पकडक़र मथुरा ले गए। वहां पर महिला का कथित पति मिला। तथाकथित क्राइम ब्रांच के लोगों ने उनसे कहा कि महिला की पति की शिकायत पर उनकी गिरफ्तारी हुई है। उनके साथ मारपीट की गई तथा काफी देर तक चली बातचीत के बाद सौदा 13 लाख में तय हुआ। बदमाशों ने उनसे उस समय 2 लाख 85 हजार रुपये ले लिये। 10 लाख 15 हजार रुपये बकाया था। उन्होंने बताया कि महिला उन्हें फोन कर कर 10 लाख रुपए देने के लिए दबाव बना रही थी। थाना बीटा-2 पुलिस ने बीती रात को इस मामले में कार्रवाई करते हुए भारत तथा प्रशांत नामक 2 लोगों को गिरफ्तार किया। इनसे पूछताछ के दौरान पता चला कि इस घटना में शामिल महिला का नाम नीरजा देवी उर्फ नीता चौधरी है। पुलिस ने उसे भी गिरफ्तार कर लिया है। उन्होंने बताया कि इस घटना में शामिल देवेंद्र तथा मिंटू नामक 2 लोग फरार हैं।