प्रवीण शर्मा
हापुड़ (युग करवट)। किसानों के आंदोलन के दौरान हुई मौतों के बाद लखीमपुर खीरी में कई स्थानों पर आगजनी हुई। जैसे ही मामले की जानकारी विपक्षी पार्टियों के नेताओं को मिली तो उनमें लखीमपुर खीरी जाने की होड़ सी लग गई। भाकियू के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत का काफिला पुलिस को चकमा देने में कामयाब हो गया। वहीं भाकिसं के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजेन्द्र यादव तथा हापुड़ के जिलाध्यक्ष भी पुलिस को चकमा देकर निकल गए। जयंत चौधरी के काफिला जिस समय ब्रजघाट टोल ब्रिज पर पहुंचा तो वहां रालोद कार्यकर्ता व पुलिस के बीच जमकर हाथापाई हुई। इतना ही नहीं, जयंत चौधरी पैदल ही अपनी गाड़ी तक पहुंचकर पुलिस को चकमा देने की कोशिश की लेकिन पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया। लखीमपुर खीरी में लगी आग की आंच के मद्देनजर पुलिस कमिश्नर पहुंचे। वहीं जिलाधिकारी के निर्देश पर जनपद हापुड़ में धारा 144 लागू कर दी गई है। लखीमपुर खीरी में उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य की जनसभा होनी थी। केन्द्रीय मंत्री के पुत्र अजय मिश्र का काफिला उनकी सभा में शिरकत करने जा रहा था। किसानों के विरोध के साथ एक गाड़ी अनियंत्रित होकर किसानों के ऊपर चढ़ गई। जिसकी चपेट में आकर चार किसानों की मौत हो गई। इसके बाद आक्रोशित हुए किसानों ने लाठी डंडों से गाड़ी चालक भाजपा नेताओं के साथ मारपीट शुरू कर दी। बताया जाता है कि चालक समेत चार लोगों की मौके पर ही मौत हो गई और कई घायल हो गए। यहां तक कि अजय मिश्र ने भी पैदल दौड़ लगाकर जैसे-तैसे अपनी जान बचाई। क्षुब्ध किसानों ने मिश्र की गाड़ी को भी आग के हवाले कर दिया।
लखीमपुर खीरी में लगी आग से जनपद हापुड़ भी सुलग उठा। घटना के बाद राजनीतिक दलों के नेताओं में लखीमपुर खीरी जाने की होड़ सी लग गई। देर रात भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत काफिला पुलिस को चकमा देकर निकल गया। इसके बाद भारतीय किसान संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजेन्द्र यादव तथा हापुड़ के जिलाध्यक्ष का काफिला भी आसानी से लखीमपुर खीरी की ओर निकल गया। मामले की भनक लगते ही जनपद हापुड़ पुलिस बेहद चौकन्नी हो गई और चारों सीमाएं सील कर दी। मौके की नजाकत को समझते हुए जिलाधिकारी अनुज सिंह ने देर रात पूरे जनपद में धारा 144 लागू कर दी।
करीब डेढ़ बजे राष्ट्रीय लोकदल के राष्ट्रीय अध्यक्ष जयंत चौधरी का काफिला ब्रजघाट टोल ब्रिज पर पहुंचा तो पुलिस ने उसे रोक लिया। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक रालोद कार्यकर्ता पुलिस से भिड़ गए और दोनों के बीच जमकर धक्का-मुक्की हुई। पुलिस व कार्यकर्ताओं के बीच हो रही झड़प का लाभ उठाकर जयंत चौधरी ने दौड़ लगाकर अपनी गाड़ी तक पहुंचने की कोशिश की किंतु पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया। लखीमपुरी खीरी की आग में हापुड़ को सुलगता देख मेरठ मंडल के आईजी प्रवीण कुमार पुलिस बल के साथ पहुंचे और पुलिस अधिकारियों को जरूरी दिशा-निर्देश दिए।

अखिलेश के हिरासत में लिए जाने के विरोध में सपाइयों ने दिया धरना
हापुड़। समाजवादी पार्टी के जिलाध्यक्ष तेजपाल प्रमुख के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने तहसील चौराहे पर धरना दिया। उनका कहना था कि उत्तर प्रदेश सरकार अपनी पूरी मनमानी कर रही है। सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव काफिले के साथ लखीमपुर खीरी जा रहे लेकिन पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया था। उनकी मांग थी कि मृतक किसानों के परिजनों को निष्पक्षता के साथ न्याय मिलना चाहिए।