युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। मुरादनगर थाना पुलिस को उस समय बड़ी सफलता हाथ लगी जब क्राइम ब्रांच के सहयोग से पुलिस की संयुक्त टीम ने न केवल अवैध रूप से चलाई जा रही असलाह फैक्ट्री का भांडाफोड़ कर दिया बल्कि मौके से दर्जनों बने एवं अधबने तमंचे, पिस्टल, रिवॉल्वर और बंदूक के अलावा कारतूसों की खेप व मशीनें और सामग्री बरामद कर ली।
इस संदर्भ में एसपी देहात डॉक्टर इरज राजा ने बताया कि पुलिस को सूचना मिली थी कि लिसाड़ीगेट मेरठ निवासी जहरूदï्दीन का गैंग अभी भी एक असलहा फैक्ट्री को अवैध रूप से चला रहा है। इस सूचना के मिलते ही क्राइम ब्रांच के प्रभारी अब्दुल रहमान सिदï्दीकी और मुरादनगर थाना पुलिस ने बताये गये स्थान पर छापा मारकर अमन उर्फ अन्नू रांगड़ व नूर हसन निवासी लिसाड़ीगेट मेरठ, सलमान कुरैशी निवासी जाफराबाद दिल्ली, सुहेल मलिक निवासी डबाईनगर नौचंदी मेरठ और युसुफ रांगड़ निवासी रसूलनगर खरखौदा मेरठ को गिरफ्तार कर लिया, जबकि उनके चार साथी अब्दुल सलाम, हाजी जुल्फकार व शाहिद मामा निवासीगण मेरठ और चांद पहलवाल निवासी कोटला मेवातियान बुलंदशहर फरार हो गये। श्री राजा के अनुसार हत्थे चढ़े हथियारों के सौदागरों ने बताया कि उनका गैंग ऑन डिमांड जहां हर प्रकार के हथियार बनाने में माहरत रखता है वहीं आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए बड़े पैमाने पर हथियार बनाकर उन्हें मेरठ, मुजफ्फरनगर, बागपत, शामली, सहारनपुर, गाजियाबाद, हापुड़, गौतमबुद्घनगर और बुलदंशहर के अलावा एनसीआर क्षेत्र में धड़ल्ले से सप्लाई कर रहा था।
श्री राजा ने बताया कि उनके गैंग में आधा दर्जन से अधिक सदस्य हैं। जिनका काम भी अलग-अलग हैं। कुछ अपराधी जहां हथियार बनाते हैं तो कुछ अवैध रूप से बनाये गये हथियार की सप्लाई करते हैं। श्री राजा ने बताया कि मुरादनगर पुलिस ने अगस्त माह में भी असलहा फैक्ट्री का भांडाफोड़ किया था।