नोएडा (युग करवट)। चुनाव में आचार संहिता लगाना अच्छी बात है। पर, यह उतना ही जरूरी है कि व्यापार जिस तरीके से चलता है, वह प्रभावित ना हो, चलता रहे। ऐसे में चुनाव के बीच व्यापारियों द्वारा भेजे गए माल की जांच-पड़ताल के नाम पर उन्हें उत्पीडऩ न करना चाहिए। उक्त बातें उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल, नोएडा के अध्यक्ष नरेश कुच्छल ने एक वक्तव्य में कही है। उन्होंने कहा कि शहर के व्यापारी शहर से बाहर विभिन्न क्षेत्रों, गांवों, देहातों अथवा आदिवासी इलाकों की दुकानों में माल भेजते रहते हैं तथा समय-समय पर अपने पैसे की वसूली भी करते हैं। इससे काफी बड़ी रकम उनके पास जमा रहती है। इसी के साथ ग्रामीण क्षेत्र से बहुत से लोग नकद पैसे लेकर शहर में खरीदारी करने आते हैं। चुनाव में भ्रष्टाचार ना हो, पैसे से चुनाव प्रभावित न हो, इन सभी बातों को ध्यान में रखते हुए चुनाव आयोग दिशा-निर्देश देता रहता है। परंतु, अर्थव्यवस्था चलाने के लिए व्यापारियों को नकद, सोने चांदी के आभूषण आदि लेकर यात्रा करना अनिवार्य है, तो दूसरी तरफ पैसे का चुनाव में दुरुपयोग ना हो यह भी सुनिश्चित करना जरूरी है।