युग करवट संवाददाता
लखनऊ। कल हाई सिक्योरिटी जोन कारागारों में शुमार रहने वाली चित्रकूट जेल में हुए गैंगवार के दौरान जहां अंशुल दीक्षित नामक बदमाश ने अत्याधुनिक अस्ले से ताबड़तोड़ फायरिंग करके पश्चिमी उत्तर प्रदेश सहित उत्तराखंड व हरियाणा के दुर्दांत बदमाश मुकीम काला व मेहराजुदï्दीन नामक बदमाशों को गोलियों से भून दिया था वहीं पुलिस ने मौके पर ही दोनों बदमाशों को मारने वाले तीसरे बदमाश अंशुल दीक्षित को भी मौत के घाट उतार दिया था। चित्रकूट जेल में हुई उक्त सनसनीखेज वारदात की सूचना के बाद शासन में हड़कंप मच गया था। इसके बाद पूरे प्रकरण की गहन एवं निष्पक्ष जांच के लिए सरकार के आदेश पर एक जांच समिति बनाई गई थी। जांच समिति की रिपोर्ट के आते ही शासन ने चित्रकूट जेल के अधीक्षक एसपी त्रिपाठी व जेलर महेंद्रपाल को सस्पेंड करके उनके खिलाफ विभागीय जांच भी बैठा दी थी। सूत्रों के मुताबिक, इन दोनों अधिकारियों को अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने निलंबित किया।