प्रमुख संवाददाता
गाजियाबाद (युग करवट)। मेरठ रोड पर नया बस अड्डा के पास से लेकर दुहाई तक मेरठ रोड पर बड़ी संख्या में स्ट्रीट लाइट खराब हो गई है। इन सभी स्ट्रीट लाइट के खराब होने से इस रोड पर दिन छुपते ही अंधेरा पसर जाता है। वैसे इस रोड पर नगर निगम ने ही तीन वर्ष पहले नई स्ट्रीट लाइट और पोल लगवाने का कार्य किया किया था। इसके बाद से ही स्ट्रीट लाइट को ठीक से रखरखाव नहीं किया गया है। ऐसे में कहीं पहले लगाया गया पोल टेढ़ा हो गया है तो कहीं ऐसा है कि पहले से ही लगी स्ट्रीट लाइट अब नहीं जल पा रही है। इसको लेकर आम लोग परेशान है।
इस रोड पर दिन छुपते ही अंधेरा पसर जाता है। कई बार तो अंधेरा होने के कारण लोगों को अपराधिक घटना होने का डर भी सता रहा है। कई बार एक्सीडेंट का खतरा भी लोगों को झेलना पड़ रहा है। नगर निगम प्रशासन इस पूरी रोड पर दूसरी बार स्ट्रीट लाइट लगाने का कार्य नहीं कर पा रहा है। दरअसर इस रोड पर ही स्ट्रीट लाइट लगवाने में घोटाला भी सामने आया था।
आईआईटी रूडक़ी ने घोटाले की जांच कर रिपोर्ट नगर निगम को दी थी। जिसमें कहा गया था कि इस रोड पर स्ट्रीट लाइट लगाने के लिए कार्य करने वाली कंपनी ने मानक के हिसाब से सामान नहीं लगाया। इस कारण वह लगने के कुछ दिन बाद ही खराब हो गया। इस घोटाले के बाद अब नगर निगम इस रोड की लाइट ठीक नहीं कर रहा है।