गाजियाबाद। कोरोना संक्रमण के चलते इस बार ईद पर सड़कों से लेकर बाज़ारों में पहले की तरह रौनक तो नहीं दिखाई दी लेकिन लोगों ने घरों में रहकर ही हर्षोल्लास से ईद-उल-फितर का पर्व मनाया। मस्जिदों में भी बेहद कम संख्या में लोगों ने कोविड नियमों का अनुपालन करते हुए ईद की नमाज अता की। एक दिन पूर्व ही लोगों से अपील की गई थी कि वह घरों में रहकर ही ईद की नमाज अता करें। यहां तक कि मुस्लिम बहुल्य क्षेत्रों में भी भीड़ दिखाई नहीं दी। पुलिस व प्रशासन ने क्षेत्रों में एक दिन पूर्व अपील जारी की थी कि लोग पर्व पर घरों से बाहर ना निकलें और एक जगह अधिक संख्या में एकत्र न हों, घरों में रहकर ही पर्व मनाएं। उधर, नोएडा में देशभर सहित जनपद गौतमबुद्ध नगर में आज ईद का पर्व पूरे हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। ईद की नमाज अता करने के पश्चात लोगों ने एक दूसरे को ईद की बधाई दी। कोरोना महामारी के कारण लोगों ने वीडियो कॉल व सोशल मीडिया के माध्यम से अपने परिचितों को ईद की बधाइयां दी।
सेक्टर-8 स्थित शहर की सबसे बड़ी जामा मस्जिद के अलावा निठारी, सलारपुर, गढ़ी चौखंडी, सेक्टर 62, सदरपुर, सेक्टर-76 हल्द्वानी, दादरी, दनकौर, बिलासपुर, रबूपुरा, जेवर सहित अन्य मस्जिदों में आज सुबह ईद की नमाज अता की गई। कोविड-19 की गाइडलाइन के मुताबिक मस्जिद में केवल इमाम मुफ्ती मोहम्मद राशिद कासमी के अलावा 4 लोगों ने नमाज अता की। इसके अलावा लोगों ने अपने-अपने घरों में ईद की नमाज अता कर अमन चैन और कोरोना से छुटकारा दिए जाने की दुआ मांगी। नमाज अता करने के पश्चात लोगों ने एक दूसरे के साथ ईद की खुशियां बांटी। कोरोना के कारण लोग एक दूसरे के घर नहीं जा पाए लेकिन उन्होंने सोशल मीडिया व वीडियो कॉलिंग के जरिए अपने रिश्तेदारों व परिचितों के साथ ईद की खुशियां सांझा की। ईद के अवसर पर मीठी सेवइयों के अलावा कई तरह के पकवान बनाए गए थे। वहीं ईद पर नन्हें मुन्ने बच्चे भी अपनों से ईदी मिलने पर खासे खुश दिखाई दिए। वहीं ईद का त्यौहार कोविड-19 गाइडलाइन के अनुसार मनाया जाए, इसके लिए पुलिस भी काफी चौकस रही। थाना सेक्टर-20 क्षेत्र में ड्रोन कैमरा के माध्यम से क्षेत्र की निगरानी की जा रही है तथा समाज के गणमान्य लोगों के साथ पुलिस ने बातचीत कर उनसे कोरोना गाईड लाईन के मुताबिक ईद का पर्व मनाने की अपील की।