ग्रेटर नोएडा (युग करवट)। ग्रेटर नोएडा स्थित इंडिया एक्सपो मार्ट एण्ड सेंटर में बायोफ्यूल एक्सपो 2024 का आयोजन किया गया। वल्र्ड एनवायरनमेन्ट एक्सपो- प्रदूषण नियन्त्रण उपकरणों एवं तकनीकों, नवीकरणीय उर्जा, सोलन पैनल्स एवं सोलर उत्पादों, सफाई एवं सेनिटेशन उपकरणां, हरित इनोवेशन, उर्जा दक्षता उपकरणों एवं तकनीकों आदि पर 5वीं इंटरनेशनल प्रदर्शनी रही।
इंडियन एक्जहीबिशन सर्विसेज के डायरेक्टर स्वदेश कुमार ने बताया कि तीन दिवसीय प्रदर्शनी में बायोफ्यूल उद्योग के विकास पर स्थायित्व के तीन 3 सिद्धान्त पर्यावरण स्थायित्व, सामाजिक स्थायित्व और आर्थिक स्थायित्व पर चर्चा की गई। उन्होंने बताया कि बायोफ्यूल एक्सपो में जैव ईंधन उद्योग की वृद्धि और विकास को बढ़ावा देने के मुख्य उद्देश्य से किया गया।
यह आयोजन जैव ईंधन और बायोमास उद्योग के प्रतिभागियों के लिए नेटवर्किंग और व्यवसाय के कई अवसर प्रदान करेगा। कार्यक्रम के दौरान ऑल इंडिया मेयर एवं आरडब्ल्यूए समिट के मुख्य संयोजक कर्नल तेजेंद्र पाल त्यागी ने कहा कि भूजल का स्तर लगातार गिर रहा है। पानी की समस्या के समाधान के लिए जलस्रोतों से लेकर इमारतों तक पाइपलाइन बिछाई जानी चाहिए और धार्मिक अनुष्ठान के तौर पर हर इलाके में पानी का रिचार्ज किया जाना चाहिए। इस दौरान हल्द्वानी के महापौर जोगेंद्र पाल सिंह रोतेला, गाजियाबाद की महापौर सुनीता दयाल, आगरा की महापौर हेमलता दिवाकर कुशवाह, इंदौर के महापौर पुष्यमित्र भार्गव (ऑनलाइन), ईटानगर (अरुणाचल प्रदेश) के लोकम आनंद सहित अन्य ने अपने विचार व्यक्त किए।