सुरेश चौधरी
नोएडा (युगकरवट)। गौतम बुद्ध नगर में 4 दिन के अंदर हुई ताबड़तोड़ हत्या की 6 वारदातों ने जनता मे दहशत पैदा कर दी है। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के बाद हुई इन वारदातों ने कानून व्यवस्था की पोल खोल दी है। पुलिस आयुक्त आलोक सिंह के मीडिया प्रभारी अभिनेन्द्र कुमार सिंह ने बताया कि सोमवार की सुबह को ग्रेटर नोएडा के थाना रबूपुरा क्षेत्र के मिर्जापुर गांव के रहने वाले राहुल तथा दूसरे पक्ष सुबोध कपिल और कुशल पाल के बीच गाड़ी खरीदने को लेकर आपस में विवाद हो गया था। विवाद ने मारपीट का रूप ले लिया। सुबोध नामक एक व्यक्ति ने देसी तमंचे से, जान से मारने की नियत से राहुल के ऊपर गोली चला दी। राहुल बच गया तथा गोली वहां से गुजर रहे राहगीर प्रवेश को जा लगी। वह गांव लोधाना थाना जेवर क्षेत्र के रहने वाले थे। उन्होंने बताया कि प्रवेश को गंभीर हालत में एक अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती कराया गया, जहां पर डाक्टरों ने उनको मृत घोषित कर दिया। मीडिया प्रभारी ने बताया कि इस मामले में थाना रबूपुरा पुलिस ने हत्या का मुकदमा दर्ज किया है।
उन्होंने बताया कि बीती रात को अजय मोटरसाइकिल पर सवार होकर जा रहा था, तभी अमन तथा निक्की ने उसे रोक लिया। दोनों पक्षों के बीच विवाद हो गया। इसी बीच अमन ने अजय को गोली मार दिया। गंभीर हालत में उसे एक अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती कराया गया, जहां पर डाक्टरों ने उसको मृत घोषित कर दिया। घटना की रिपोर्ट दर्ज कर पुलिस मामले की जांच कर रही है। दोनों आरोपी फरार हैं, पुलिस उनकी तलाश कर रही है।
मीडिया प्रभारी ने बताया कि रविवार को थाना दादरी क्षेत्र के लोहारली गांव के पास कार में सवार होकर जा रहे दिनेश भाटी की कार को, अज्ञात बदमाशों ने रुकवाया, तथा उनके ऊपर ताबड़तोड़ गोली चला दी। दिनेश भाटी के शरीर में तीन गोली लगी है। उनकी मौके पर ही मौत हो गई है। उन्होंने बताया कि घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। मीडिया प्रभारी ने बताया कि घटना की रिपोर्ट दर्ज कर थाना दादरी पुलिस मामले की जांच कर रही है।
थाना दादरी क्षेत्र में रविवार रात को हुई इस सनसनीखेज वारदात ने कानून व्यवस्था की पोल खोल दी है। दादरी क्षेत्र में इस घटना को लेकर भारी तनाव है। मृतक दिनेश भाटी के बड़े भाई महेश भाटी समाजवादी पार्टी के नेता है। महेश के बेटे मोहित की 27 नवंबर वर्ष 2018 में हत्या कर दी गई थी। इस मामले में लोहारली गांव के रहने वाला पुनीत जेल गया है। मोहित हत्याकांड में उसके चाचा उमेश भाटी गवाह थे। उनकी वर्ष 2020 के अक्टूबर माह में दादरी के नेशनल हाईवे पर एक सड़क हादसे में मौत हो गई। तब सपा नेता महेश भाटी ने इस मामले में उनके बेटे के हत्यारे पुनीत व उसके परिजनों पर उमेश की सड़क हादसे मे हत्या का आरोप लगाया था। उनका कहना था कि सड़क हादसा का रूप देकर उनके भाई की हत्या की गई है।
मोहित की हत्या में गिरफ्तार पुनीत के भाई ने अभी हाल मे ही संपन्न हुए पंचायत चुनाव मे लोहारली गांव से प्रधानी का चुनाव लड़ा था, तथा प्रधानी जीत गया। बेटे के हत्या के आरोप मे गिरफ्तार आरोपी पुनीत के भाई के, प्रधानी चुनाव में महेश भाटी ने सोशल मीडिया व सार्वजनिक रूप से उसका जमकर विरोध किया।रविवार को सपा नेता महेश भाटी के दुसरे भाई की हत्या के बाद, क्षेत्र में चर्चा है कि यह हत्या प्रधानी चुनाव के समय किए गए प्रचार की वजह से भी हो सकती है।
मीडिया प्रभारी ने बताया कि थाना बिसरख क्षेत्र के पंच विहार कॉलोनी में रहने वाले प्रवेश उर्फ राहुल तथा उसके भांजे आयुष के साथ वहीं पर रहने वाले मोहम्मद अफजल पुत्र नत्थू बॉक्स तथा अवनी शर्मा पुत्र कृष्ण अवतार शर्मा का शनिवार को झगड़ा हो गया था। दोनों आरोपियों ने प्रवेश तथा उसके भांजे आयुष के ऊपर चाकू से ताबड़तोड़ हमला कर दिया था। दोनों को गाजियाबाद के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां पर आयुष को डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया, तथा प्रवेश की हालत गंभीर बनी हुई है।
उन्होंने बताया कि घटना की रिपोर्ट दर्ज कर रही मामले की जांच कर रही थाना बिसरख पुलिस ने रविवार को मोहम्मद अफजल तथा अवनीश शर्मा को गिरफ्तार किया है। उन्होंने बताया कि पूछताछ के दौरान पुलिस को पता चला है कि दोनों आरोपियों का प्रवेश से पुराना विवाद था। दोनों प्रवेश की पत्नी से बातचीत करते थे, जिसका वह विरोध कर रहा था। इससे पूर्व भी इन लोगों के बीच इस बात को लेकर झगड़ा हो चुका था।
पुलिस आयुक्त आलोक सिंह के मीडिया प्रभारी अभिनेंद्र कुमार सिंह ने बताया कि शुक्रवार की रात को थाना फेस- 2 क्षेत्र के ककराला गांव के पास मकान बनाकर रहने वाले संत राम (50 वर्ष) पुत्र राम शंकर की अज्ञात बदमाशों ने इट से कुचल कर हत्या कर दी। उन्होंने बताया कि घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। उन्होंने बताया कि इस बाबत मृतक के भाई लालू ने थाना फेस-2 में अज्ञात बदमाशों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया है। उन्होंने बताया कि घटना की रिपोर्ट दर्ज कर पुलिस मामले की जांच कर रही है।
मीडिया प्रभारी ने बताया कि थाना फेस-2 क्षेत्र के ही सेक्टर 80 के पास बड़े नाले में उज्जवल गेडास (27 वर्ष) पुत्र अनिल राव गेडास का शव बृहस्पतिवार रात को पुलिस को मिला है। उन्होंने बताया कि मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।
मीडिया प्रभारी ने बताया कि पूछताछ के दौरान पुलिस को पता चला है, कि मृतक सेक्टर 80 स्थित सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट में काम करते थे। उनके गले में तार का फंदा लगा हुआ था। उन्होंने बताया कि इस बाबत मृतक के कंपनी के अधिकारी प्रवीण कुमार सिन्हा ने अज्ञात बदमाशों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया है। घटना की रिपोर्ट दर्ज कर पुलिस मामले की जांच कर रही है। थाना फेस-2 क्षेत्र में 24 घंटे के अंदर हुई हत्या की दो वारदातों ने कानून व्यवस्था की पोल खोल दी है। औद्योगिक क्षेत्र में काम करने वाले लोगों में इन घटनाओं के चलते दहशत व्याप्त है।