युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। जीडीए के स्पेशल डिवेलपमेंट जोन बनाने के बोर्ड की बैठक से पास प्रस्ताव को लेकर अब बड़ी संख्या में लोगों के होश उड़ गए है। जो पहले से ही दुहाई, और गुलधर हाईस्पीड ट्रेन के स्टेशन के आसपास के एरिया में मकान बनाकर रह रहे है। अगर स्पेशल डिवेलमेंट जोन को बनाया जाता है तो जीडीए के निशाने पर कई सौ की संख्या में मकान आने की संभावना है।
हाल ही में हुई जीडीए बोर्ड की बैठक में यह प्रस्ताव पास किया गया। जिसमें कहा गया कि गुलधर और दुहाई हाईस्पीड ट्रेन के स्टेशन के डेढ़ किलोमीटर की रेंज में आने वाली गांव भोवापुर, से लेकर गुलधर और दुहाई गांव की करीब 650 एकड़ जमीन को इस जोन में शामिल किया जाएगा। यह प्रस्ताव अब पास हो चुका है। इस प्रस्ताव के पास होने के बाद अब जीडीए सर्वे की कार्रवाई करेगा।
जीडीए के इस कदम से ऐसे लोगों की टेंशन बढ़ गई है जो लोग हाईस्पीड ट्रेन के दोनों स्टेशनों के आसपास जमीन खरीदकर मकान बना चुके है। ऐसे में संभावना है कि दोनों ही स्टेशन के आसपास बड़ी संख्या में बने मकानों की जमीन को भी जीडीए अपनी योजना में शामिल कर सकता है। इसको लेकर अब मकान बनाकर रह रहे कई सौ लोगों की टेंशन बढ़ गई है। दूसरी और इस मामले में अभी जीडीए का नियोजन विभाग पत्ते नहीं खोल रहा है। एक अधिकारी ने बताया कि अभी तो सबसे पहले जीडीए पास हुए प्रस्ताव के आधार पर सर्वे करेगा। देखेगा कि कितने मकान सर्वे के दायरे में आते है। इसके बाद ही सटीक जानकारी मिल सकेगी।