युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। गालंद में सॉलिडवेस्ट मैनेजमेंट प्लांट की जमीन पर ग्रामीणों ने आज बाउंड्री बनाने का कार्य शुरू नहीं करने दिया। निगम ने आज से बाउंड्री बनाने का कार्य शुरू करने की घोषणा की थी। साइट पर बड़ी संख्या में महिलाएं पहुंच गई। इस धरने के बाद हापुड़ प्रशासन ने निगम को जमीन पर बाउंड्री बनाने का कार्य शुरू करने की इजाजत नहीं दी। गालंद में कई दिनों से ग्रामीण और नगर निगम आमने सामने है। गए बुधवार को ग्रामीणों ने हमला कर निगम की जमीन पर तैयार की गई बाउंड्री को गिरा दिया था। तब से ग्रामीण और हापुड़ प्रशासन के बीच तनाव चल रहा है। इस मामले में निगम के अवर अभियंता योगेश कुमार की ओर से महिलाओं सहित करीब 200 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई है। हापुड़ प्रशासन दीवार गिराने में आरोपी किसी एक को भी गिरफ्तार नहीं कर पाया। पुलिस ने गालंद गांव में फ्लैग मार्च भी किया। मार्च के बाद मसूरी पुल के पास कल 13 गांवों के ग्रामीणों की पंचायत हुई। पंचायत के बाद ग्रामीणों ने आज और तेवर दिखाए। ग्रामीणों ने नगर निगम को आज भी दीवार बनाने का कार्य शुरू नहीं करने दिया। अपर नगर आयुक्त आरएन पांडेय ने बताया कि निगम माहौल शांत होने के बाद बाउड्री बनाने का कार्य शुरू करेगा।