युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। गालंद में सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट प्लांट बनाने के लिए नगर निगम ने अपनी जमीन की बाउंड्री बनाने का कार्य शुरू किया था। यह कार्य हापुड़ पुलिस की सुरक्षा में चल रहा था। निगम द्वारा की जा रही दीवार की 24 घंटे सुरक्षा करने के लिए पुलिस की टीम भी तैनात थी। आज सुबह आसपास के कई गांवों के कई सौ लोगों ने निगम की दीवार पर धावा बोल दिया। तब तक पुलिस और नगर निगम की टीम कुछ समझ पाती तब तक भीड़ ने निगम द्वारा की गई दीवार को गिरा दिया। यह सब पुलिस और निगम के अधिकारियों की मौजूदगी में हुआ। नगर आयुक्त महेंद्र सिंह तंवर ने इस कार्य के लिए अपने तेजतर्रार माने जाने वाले अपर नगर आयुक्त अरुण कुमार यादव को तैनात किया था। साथ ही निगम ने अपनी प्रवर्तन टीम को भी तैनात किया। इस टीम में एक्स आर्मी मेन शामिल है। मगर भीड़ के आगे पुलिस और निगम की टीम की नहीं चली। भीड़ ने एक साथ धावा बोल दिया और करीब निगम द्वारा बनाई गई करीब 600 मीटर दीवार को उखाड़ दिया। दूसरी और गालंद डंपिंग ग्राउंड के विरोध में बनी संघर्ष समिति के अध्यक्ष राजू तोमर का कहना है कि हमने इस मामले में कोर्ट में रिट फाइल की है। जब तक कोर्ट से फैसला नहीं आ जाता तब तक डंपिंग ग्राउंड की जमीन पर दीवार नहीं होने दी जाएगी।