गाजियाबाद (युग करवट)। घंटाघर कोतवाली थाना क्षेत्र अंतर्गत रेलवे स्टेशन के पास स्थित टीनशेड डालकर बनाये गये मदिर की वृद्घ पुजारिन ७५ वर्षीय शीला शर्मा पत्नी स्व. रामकिशन शर्मा निवासी बागपत हाल मंदिर प्रांगण की बीती रात गला रेतकर हत्या कर दी गई। पुलिस को उक्त सनसनीखेज वारदात का पता उस समय चला कि जब रेलवे स्टेशन पर हो रहे निर्माण कार्यस्थल पर सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी करने वाला उसका पुत्र सचिन शर्मा अपने आवास पर पहुंचा। अपनी मां की रक्तरंजित लाश देखकर सचिन ने उक्त वारदात की सूचना पुलिस को दे दी। उक्त वारदात की सूचना मिलते ही जहां एसएचओ कोतवाली दिनेश कुमार सिंह फोरेंसिक टीम के साथ मौके पर जाकर घटनास्थल की वैज्ञानिक एवं भौतिक जांच करने में जुट गये वहीं उनकी टीम ने घटनास्थल के आस-पास लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज भी खंगालनी शुरू कर दी। इसी बीच डीसीपी सिटी जोन कुंवर ज्ञान्नजय सिंह एवं एसीपी कोतवाली रविंद्र कुमार वर्मा ने भी घटनास्थल का मौका मुआयना किया। इस मर्डर के संदर्भ में एसीपी कोतवाली रंिवंद्र कुमार वर्मा का कहना है कि प्राथमिक जांच में जो बात सामने आई है उससे पता चला है कि मूल रूप से बागपत निवासी रामकिशन शर्मा रेलवे में तैनात थे। उनकी मौत के बाद उनकी पत्नी शीला शर्मा ने जहां दो पुत्रों की बेरूखी के चलते अपना आवास रेलवे स्टेशन के पास स्थित एक पेड़ के नीचे टीन का शेड बना लिया था वहीं अपने आवास को ही वृद्घ शीला शर्मा ने मंदिर के रूप में परिवर्तित कर दिया था।
वह अपने छोटे पुत्र सचिन शर्मा, जो काफी समय पहले सिर में लगी चोट की वजह से अद्घविक्षिप्त अवस्था में पहुंच गया था, के साथ रह रही थी। श्री वर्मा ने बताया कि कुछ दिन पूर्व शिव उर्फ शिवम नामक एक शख्स हरिद्वार से शीला शर्मा के पास आकर रह रहा था। उस व्यक्ति ने शाीला शर्मा को उसके पुत्र सचिन शर्मा की शादी करवाने का भी झांसा दिया था। श्री वर्मा ने बताया कि शीला शर्मा ने अपनी बहन को बताया था कि वह आज शिव उर्फ शिवम के साथ सचिन के लिये लडक़ी देखने दिल्ली जायेगी। आज सुबह जब उनका पुत्र सचिन डï्यूटी से लौटा तो उसने अपनी मां का गला रेता हुआ पाया और हरिद्वार से आया शख्स शिवं उसे गायब मिला। श्री वर्मा ने बताया कि वृद्घ पुजारिन शीला शर्मा की हत्या गला रेतकर किसने और क्यों की आदि सवालों का उत्तर तलाशने के लिये पुलिस जहां वारदात के बाद गायब हुए लापता शख्स की सुरागरसी करने में जुट गई है वहीं अपनी जांच के दायरे में उस व्यक्ति के अलावा मृतका के साथ रहने वाले सचिन और अलग रहने वाले दोनों पुत्रों के सहित कई और संदिग्धों को रखकर चल रही है।