नगर संवाददाता
गाजियाबाद (युग करवट)। गर्मी के साथ-साथ बिजली भी सितम ढहा रही है। आलम यह है कि २४ घंटे में कई-कई बार बिजली गुल रही है जिसकी वजह से लोगों का घरों में रहना भी दुर्भर हो गया है। हीट वेव से बचने के लिए एक ओर डॉक्टर जहां घर से बाहर न निकलने की सलाह दे रहे हैं वहीं दूसरी ओर बिजली न होने से बढ़ते ताप में लोगों को घरों में रूकना मुश्किल हो रहा है। हालांकि दूसरी ओर विभागीय अधिकारियों का कहना है कि गर्मी प्रचंड होने से बिजली की डिमांड अत्याधिक बढ़ी ही है। इसकी वजह से सब स्टेशन ओवर लोड हो रहे हैं। लाइनों में फाल्ट और ट्रांसफार्मर फूंकने की वजह से भी स्थिति बिगड़ रही है। ऐसे में लाइनों में कोई बडा फाल्ट न हो इसके लिए थोडी-थोडी देर में शटडाउन लिया जा रहा है। लेकिन कोई भी शटडाउन लम्बे समय के लिए नहीं है। जहां-जहां फाल्ट हो रहे हैं वहां भी टीमों को भेज कर उसे ठीक कराया जा रहा है। ट्रांसफार्मर बदलने में पांच से छह घंटे का समय लग रहा है। लेकिन प्रयास है कि इस दौरान अन्य फीडर से सप्लाई दी जाए। लेकिन सभी फीडर इन दिनों ओवर लोड हो रहे हैं। ऐसे में अतिरिक्त भार डालने से मुश्किलें और बढ़ सकती हैं। शहरी क्षेत्र में भी इन दिनों से तीन से चार घंटे का कट लग रहा है तो वहीं ग्रामीण क्षेत्रों में हाल और भी बेहाल हैं।

यहां तक की लोगों को रात भर अंधेरे और गर्मी में बिताने पड़ रहे हैं। लाइट न होने की वजह से पानी का संकट भी खड़ा हो जाता है। बिजली के कट लम्बे होने से लोगों को घरों में रहना भी मुश्किल हो रहा है तो वहीं बाहर लू और गर्मी परेशान कर रही है। जिले में बिजली की डिमांड १८ सौ मेगावाट तक पहुंच गई हैं जबकि सामान्य दिनों में यह डिमांड सात सौ मेगावॉट के आसपास रहती है।