नगर संवाददाता
गाजियाबाद। (युग करवट) अखिल भारतीय गुर्जर परिचय सम्मेलन ने एक प्रेसवार्ता में ऐलान किया है कि वह विवाह योग्य बेटे-बेटियों के रिश्ते तय कराने में मदद करेगा। साथ गरीब परिवार को शादी का खर्च भी मुहैया कराया जाएगा। इसके लिए संस्थान के अध्यक्ष यशपाल भाटी ने गुर्जर बिरादरी से अपील की है वह अपने बच्चों का बायोडाटा उन्हें उपलब्ध कराएं। उन्होंने कहा कि बिरादरी में जानकारी के अभाव में रिश्ते तय करने में दिक्कतें आ रही हैं। सेवाराम कसाना ने कहा कि अगर कोई गरीब परिवार संस्था के माध्यम से शादी करेगा तो उसे उनकी ओर से ५० हजार रुपए की सहायता दी जाएगी। वहीं अधिवक्ता मुकेश नागर ने कहा कि गुर्जर बिरादरी में तलाक के मामले बढ़ रहे हैं, जो चिंता का विषय है। सुशील प्रधान ने कहा कि इन मामलों को रोकने के लिए संस्था की ओर से काउसिलिंग समिति बनाई जाएगी, जो दोनों पक्षों के बीच समझौता कराएगी और पीडि़त पक्ष को मुआवजा दिलाया जाएगा। मास्टर राजपाल कसाना ने बताया कि आर्य वीर भूमि के स्वतंत्रता सेनानी एवं शहीद पर एक पुस्तक लिखी जा रही है। अधिवक्ता राजीव ने कहा कि गुर्जर बिरादरी के अधिकतर गांवों के साथ आंतकियों के नाम जुड़े हैं जैसे टीला शहबाजपुर, इसे हटवाने के लिए मुहिम शुरू की गई है। इस अवसर पर अमित चंदीला को मीडिया प्रभारी, श्यामवीर भाटी को ग्रेटर नोएडा प्रभारी, मास्टर संतराम को दादरी का प्रभारी और राजीव कुमार गुर्जर को कानूनी सलाहकार नियुक्त किया गया है। इस मौके पर राजपाल सिंह कसाना, लखीचंद व रमेश भाटिया को समाजसेवा के क्षेत्र में सम्मानित भी किया गया। इस दौरान संस्था की एक सलाहकार समिति का गठन भी किया गया, जिसमें राजपाल सिंह कसाना, डीपी नागर, भूलेराम, विजयपाल कसाना, बबली कसाना, बाबूराम बैसोया, वेदपाल, मुखिया, सुरेन्द्र प्रेमी, भगत गुर्जर, महेन्द्र आर्य, ज्ञानेन्द्र सिंह, बबली प्रधान, बिजेन्द्र भाटी, सुशील प्रधान, एकलव्य बैसला, गुड्डी कसाना, ललिता रानी को शामिल किया गया है। संस्था के सरंक्षक श्रीपाल भाटी, मनोज नागर, लखीचंद, रमेश भाटी, अजय चौधरी का भी इस दौरान स्वागत किया गया।