नोएडा (युग करवट) प्रतिबंध के बावजूद भी दीपावली त्यौहार पर राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में अवैध रूप से हुई आतिशबाजी के चलते गाजियाबाद, नोएडा दिल्ली सहित एनसीआर के 5 प्रमुख शहर वायु प्रदूषण बेहद खतरनाक स्थिति (रेड जोन) में पहुंच गया है। गाजियाबाद आज सबसे ज्यादा प्रदूषित शहर रहा। यह हालत तब है जबकि एनसीआर में ग्रैब प्लान लागू है। वायु प्रदूषण के चलते लोगों के सांस लेने में परेशानी हो रही है, आंखों में जलन हो रही है, तथा हृदय रोगियों के लिए यह जानलेवा साबित हो रहा है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के मुताबिक आज सुबह को गाजियाबाद की एक्यूआई 378, नोएडा की 357 तथा दिल्ली की 351 रही। ग्रेटर नोएडा की एक्यूआई 344, फरीदाबाद की 340, गुरुग्राम की 334, भिवानी 314, बहादुरगढ़ 334, हापुड़ 278, मेरठ 249, सोनीपत 306 दर्ज की गई। एनसीआर में पटाखे पर प्रतिबंध के बावजूद भी लोग जमकर आतिशबाजी कर रहे हैं। राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में पटाखा बेचने पर पूर्णतया प्रतिबंध है। इसके बावजूद भी अवैध रूप से पटाखे बेचे जा रहे हैं। जिला प्रशासन और पुलिस अवैध रूप से पटाखा बेचने वालों के खिलाफ कार्यवाही करने में नाकाम साबित हो रहे हैं। लोगों में चर्चा है कि अभी छठ तक इसी तरह से अवैध रूप से आतिशबाजी चलेगी। यहां के पर्यावरण विदों ने प्रशासन से मांग की है कि लोगों की जान के लिए खतरा हो रहे वायु प्रदूषण को रोकने के लिए कठोर कदम उठाएं।