वरिष्ठ संवाददाता
गाजियाबाद (युग करवट)। क्या समाजवादी पार्टी के नेताओं की नजरें सदस्यता अभियान को लेकर यूपी में होने वाले नगर निकाय चुनाव पर टिकी हुई हैं। यह सवाल समाजवादी पार्टी के ही एक कार्यकर्ता ने उठाया और इसका जवाब भी दिया।
पार्टी कार्यकर्ता का कहना है कि जनपद में किसी भी नेता का फोकस सदस्यता अभियान पर नहीं है। यदि, ऐसा होता को नेता घरों और दफ्तरों में कम और अभियान को सफल बनाने के लिए कैंप ज्यादा करते नजर आते। पार्टी कार्र्यकर्ता का कहना है कि निकाय चुनाव में मुख्य विपक्षी दल होने के कारण पार्टी के टिकट पर पार्षद का चुनाव लडऩे के लिए वार्डों से दावेदारी की जाएगी। ऐसे में दावेदारों के सामने पार्टी के नेता सदस्यता अभियान की रसीदें कटवाने की शर्त भी रख सकते हैं। ऐसे में दावेदारों के जरिए पार्टी के नेता सदस्यता अभियान को हवा दे सकते हैं। यदि, इस तरह से सदस्यता अभियान चलाया जाता है तो यह कितना व्यवहारिक होगा यह आने वाला वक्त ही बताएगा।