युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। कोविड-19 संक्रमण के कारण मृत्यु हुई है, नगर निगम की ओर से उनको राहत दिए जाने हेतु भवन का वित्तीय वर्ष 2021-22 में संपत्ति कर माफ किया जाएगा। सदन से यह पहले ही स्वीकृत किया जा चुका है। हाउस टैक्स माफी के लिए अब पीडि़त परिवारों से आवेदन भी आने शुरू हो गए हैं। वसुंधरा जोन में दो, विजय नगर जोन में एक, कविनगर में पांच, इस प्रकार कुल आठ प्रार्थना पत्र संपत्ति कर माफ करने हेतु प्राप्त हुए हैं। जिन पर नगर आयुक्त महेंद्र सिंह तंवर के निर्देश के क्रम में कार्यवाही कराई जा रही है।
जिस भवन स्वामी के नाम नगर निगम सीमा अंतर्गत भवन स्थित है तथा जिस पर कर आरोपित किया जा चुका है, उक्त भवन स्वामी के पति या पत्नी, उनके अलावा उनके माता-पिता तथा परिवार से पुत्र या पुत्री की कोविड-19 महामारी के कारण मृत्यु होने से प्रभावित परिवार का संपत्ति कर माफ कर परिवार को राहत दी जाएगी।
मुख्य कर निर्धारण अधिकारी डॉ. संजीव सिन्हा ने बताया कि गृह कर माफ किए जाने के संबंध में नगर निगम अधिनियम 1959 में दिए गए प्रावधानों को दृष्टिगत रखते हुए कोविड-19 महामारी के कारण मृत्यु होने के उपरांत गृह कर माफ किया जाएगा। इसके लिए प्रार्थी मुख्य कार्यालय, नगर आयुक्त कार्यालय या मुख्य कर निर्धारण अधिकारी के कक्ष में या जोनल कार्यालय में एक प्रार्थना पत्र लिखकर आवेदन कर सकते हैं। इसके लिए संबंधित नाम व पता, मृत्यु प्रमाण पत्र, आधार कार्ड की प्रतिलिपि संलग्न कर जमा कर सकता है । इसके अलावा नगर निगम गाजियाबाद की
ईमेल आईडी gzb.nagar.nigam @ gmai.com पर भी उपरोक्त वर्णित दस्तावेजों को अपलोड किया जा सकता है। ताकि गाजियाबाद नगर निगम संबंधित परिवार को राहत देने हेतु गृह कर को माफ कर सकें।