युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। कोरोना की दूसरी लहर में संक्रमितों की मदद के लिए वैश्य समाज से जुड़े लोग बढ़चढ़ कर कार्य कर रहे हैं। राज्यसभा सांसद डॉ. अनिल अग्रवाल की पहल पर वैश्य समाज से जुड़े लोग कोविड प्रभावितों को घर-घर जाकर निशुल्क पैक्ड भोजन देने का काम निरंतर कर रहे हैं। समाज के लोगों ने अब तक तीन हजार से अधिक भोजन के पैकेट संक्रमित परिवारों को फ्री बांटे हैं। इस सेवा कार्य में पावन चिंतन धारा आश्रम के कार्यकर्ता भी जुटे हुए हैं।
सांसद अनिल अग्रवाल ने कहा कि जब कोविड -19 की दूसरी लहर प्रारंभ हुई तो बहुत अफरातफरी का माहौल था। जो लोग संक्रमित थे और घर पर इलाज करवा रहे थे वे भोजन को लेकर बहुत परेशान थे। वैश्य समाज ने जूम मीटिंग कर कोरोना पीडि़तों की मदद करने के लिए उनके घरों में निशुल्क भोजन भेजे जाने का निर्णय लिया। चार मई से यह कार्य प्रारंभ किया गया जो अनवरत जारी है। उन्होंने बताया कि इस पुनीत कार्य में आध्यात्मिक गुरु डॉ. पवन सिन्हा ने भी सहयोग दिया। उनके आश्रम के कार्यकर्ता भोजन वितरण के कार्य में जुटे हुए हैं। गाजियाबाद महानगर के अधिकांश क्षेत्रों में भोजन के पैकेट भेजे जा रहे हैं। वैश्य समाज के प्रबुद्ध लोग इस कार्य में सहायता कर रहे हैं।
सांसद प्रतिनिधि व समाजसेवी देवेंद्र हितकारी ने बताया कि अब तक तीन हजार से अधिक भोजन पैकेट वितरित किए जा चुके हैं। रोजाना 400 से अधिक भोजन के पैकेट भेजे जा रहे हैं। इनमें से कुछ पैकेट एमएमजी अस्पताल में भी जा रहे हैं। मेन शहर के अलावा हिंडनपार क्षेत्र, राजनगर एक्सटेंशन व गोविंदपुरम क्षेत्र में भी यह सेवा जारी है। इस कार्य में अंजुल अग्रवाल, नीरज गर्ग, सुनील वार्ष्णेय, डॉ. सपना बंसल, देवेंद्र हितकारी, केपी गुप्ता, पावन चिंतन धारा आश्रम से कमल गुप्ता, गर्वित, स्वीटी, रोहित व अन्य लोग इस विशेष सेवा कार्य में जुड़े हुए हैं।