युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर ने इस कदर कहर बरपाया था कि कुछ परिवार पूरी तरह से उजड़ गए थे। शासन ने प्राथमिकता पर ऐसे बच्चों को चिन्हित करने के निर्देश जिला प्रशासन को जारी किए थे जिन्होंने इस संक्रमण के दौर में अपने माता-पिता को खोया था। स्वास्थ्य विभाग ने जांच के बाद ऐसे ३१६ बच्चों की सूची जिला प्रशासन को सौंपी है। इन बच्चों को बाल सेवा योजना के तहत लाभ दिया जाएगा। हालांकि, जिले में अभी महज १०० बच्चों को ही योजना का लाभ मिल सका है। बता दें कि कोरोना संकट में अपने अभिभावकों को खो चुके बच्चों को बाल सेवा योजना के तहत सरकार चार हजार रुपए प्रतिमाह खर्च और नि:शुल्क शिक्षा का इंतजाम करा रही है। जिले में करीब डेढ़ महीने पहले ऐसे २९१ बच्चों को चिन्हित किया गया था जिन्होंने अपने माता-पिता में से किसी एक को या फिर दोनों को ही इस संक्रमण के दौर में खो दिया था। इनमें से सौ बच्चों को जिला प्रशासन अब तक बाल सेवा योजना के तहत लाभ दिला चुका है। बाकी के बच्चे अभी वेटिंग में हैं। अब स्वास्थ्य विभाग ने कुल ३१६ बच्चों की लिस्ट प्रशासन को दोबारा सौंपी है।