युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। कोरोना संक्रमण से मुक्त होने के बाद उत्तर प्रदेश के सीएम योगी लगातार एक्टिव मोड में हैं। वह खुद प्रदेश में कोरोना संक्रमण की मॉनीटिरिंग कर रहे हैं बल्कि प्रभावित जिलों में जाकर जमीनी हकीकत भी जान रहे हैं। अपने दौरे के दौरान भी सीएम योगी अधिकारियों को कड़े निर्देश दे रहे हैं कि वह कार्यालयों के बजाय फील्ड में जाकर कार्य करें। इसी क्रम में अब सीएम योगी ने जिलों के प्रभारी मंत्रियों को निर्देश दिए हैं कि वह अपने आवंटित जिलों में जाकर ग्राउंड रिपोर्ट देखें। प्रभारी मंत्रियों के अलावा सीएम ने अन्य मंत्रियों को भी अपने-अपने क्षेत्रों के गांवों में संक्रमण की जमीनी हकीकत देखने के निर्देश दिए हैं। सीएम योगी ने कहा कि कोरोना संक्रमण को अगर रोकना है तो सभी को फील्ड में आकर अपनी जिम्मेदारी निभानी होगी ताकि इसके प्रसार को रोका जा सके। बता दें कि गतवर्ष भी सीएम योगी ने खुद भी जिलों का दौरा किया था और फिर बाद में प्रभारी मंत्रियों को भी लगातार दौरे कराए थे। इसका असर यह हुआ कि प्रदेश में कोरेाना संक्रमण की रफ्तार पर लगाम लगी और योगी मॉडल को पूरे देश में सराहना मिली। लेकिन इस बार हालात बदले और प्रदेश की हालत बदतर हो गई।
खुद सीएम के कोविड पॉज़ीटिव होने के बाद मंत्रियों से लेकर अधिकारी निष्क्रिय हो गए लेकिन सीएम योगी ने ठीक होते ही कमान संभाली और इसका असर भी प्रदेश में देखने को मिला। सीएम योगी ने प्रभारी मंत्रियों से जिले के दौरे के दौरान मीडिया से भी रूबरू होने का निर्देश दिया है जिससे समन्वय बनाकर कार्य किया जा सके।