यूपी में सार्वजनिक स्थल पर मास्क जरूरी
लखनऊ (युग करवट)। चीन में बढते कोरोना के कहर को देखते हुए पूरे देश में अलर्ट घोषित कर दिया गया है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी आज कोविड प्रबंधन को लेकर गठित उच्च स्तरीय टीम-९ के साथ कोरोना संक्रमण को लेकर समीक्षा बैठक की। हालांकि इस दौरान सीएम योगी ने कहा कि २४ घंटे में प्रदेश में एक भी कोरोना का नया मामला सामने नहीं आया है। टीम-९ की बैठक में सीएम योगी ने कोरोना के नए वैरिएंट पर नजर रखने, पॉजीटिव केस की जीनोम सिक्वेंसिंग कराए जाने के निर्देश अधिकारियों को दिए है। इतना ही नहीं अब प्रदेश में कोविड टेस्टिंग और टीके की प्रीकॉशन डोज को बढाया जाएगा।
हालांकि मुख्यमंत्री ने इस दौरान कहा कि कोरोना से घबराने की जरूरत नहीं है, सर्तकता, सावधानी बरतने की जरूरत है। उन्होंने अफसरों को निर्देश दिए हैं कि कोरोना संक्रमण से बचने के लिए कोविड प्रोटोकॉल का कडाई से पालन करवाएं, साथ ही कहा कि भीड भाड वाले सार्वजिनक स्थानों पर फेस मास्क के लिए आमजन को जागरूक किया जाए व लोगों से सार्वजनिक स्थलों पर फेस मास्क लगाए जाने की अपील की जाए।
बैठक में बताया कि पिछले एक सप्ताह में देश में कोविड के नए केस बढे हैं लेकिन उत्तर प्रदेश में स्थिति सामान्य है। दिसम्बर माह में प्रदेश की कोविड पॉजिटिविटी दर 0.01फीसदी रही है। वर्तमान में कुल एक्टिव केस की संख्या 62 है। विगत 24 घंटों में 27.208 हजार टेस्ट किए गए और एक भी नए मरीज की पुष्टि नहीं हुई। इसी अवधि में 33 लोग उपचारित होकर कोरोना मुक्त भी हुए। सीएम योगी ने कहा कि यह समय घबराने का नहीं, सतर्क और सावधान रहने का है। कोविड प्रोटोकॉल का कडाई से पालन किया जाएगा। अस्पतालों, बस, रेलवे स्टेशन, बाजारों जैसे भीडभाड वाले सार्वजनिक स्थानों पर फेस मास्क लगाए जाने के लिए लोगों को जागरूक करें। पब्लिक एड्रेस सिस्टम को एक्टिव किया जाएगा। उन्होंने कहा कि कोविड की बदलती परिस्थितियों पर सूक्ष्मता से नजर रखी जाए।
चिकित्सा शिक्षा, स्वास्थ्य विभाग बेहतर समन्वय के साथ तैयारी करें। राज्य स्तरीय स्वास्थ्य सलाहकार समिति के परामर्श के अनुसार आगे की नीति तय की जाएगी। स्वास्थ्य मंत्रालय भारत सरकार से सतत संपर्क-संवाद बनाए रखें। सीएम योगी ने दैनिक टेस्टिंग बढाने, गंभीर, असाध्य रोग से ग्रस्त लोगों, बुजुर्गों को विशेष सावधानी बरतने के निर्देश दिए हैं। सीएम योगी ने गृह, स्वास्थ्य और नगर विकास विभाग परस्पर समंन्वय के साथ आइसीसीसी को फिर से एक्टिव करने की तैयारी करने के निर्देश दिए हैं। साथ ही कहा है कि सभी अस्पतालों में कोविड से निबटने के लिए पर्याप्त संसाधन उपलब्ध रहें। कोविड से बचाव के लिए ग्राम प्रधान, एएनएम, आशा बहनें, आंगनबाडी कार्यकत्रियों को सहयोग लिया जाएगा। कोविड के नए वैरिएंट के को देखते हुए प्रीकॉशन डोज लगाए जाने में तेजी लाई जाएगी व लोगों को प्रीकॉशन डोज की जरूरत और उपयोगिता के बारे में जागरूक किया जाए।