युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। ओबीसी समाज के लोगों को पार्टी के साथ जोडऩे के लिए भाजपा शीर्ष नेतृत्व जीतोड़ प्रयास कर रहा है। शीर्ष नेतृत्व की ओर से मंत्री से लेकर बूथ लेवेल कार्यकर्ताओं को ओबीसी समाज के पास जाकर सरकार की उपलब्धियों की जानकारी देने के निर्देश दिए गए लेकिन गाजियाबाद में ओबीसी इकाई शीर्ष नेतृत्व की आंखों में धूल झोकने का काम कर रही है। हाल ही में ओबीसी मोर्चा की महानगर इकाई का गठन किया गया।
इस इकाई में मनोज यादव को महानगर अध्यक्ष नियुक्त किया गया। उनकी नियुक्ति किए हुए करीब एक सप्ताह से ज्यादा का वक्त हो गया है लेकिन उन्होंने अभी तक न तो ओबीसी मोर्चा की ओर से कोई कार्यक्रम तय किया और ना ही पार्टी की ओर से आयोजित किसी कार्यक्रम में ओबीसी समाज से जुड़े कार्यकर्ताओं के साथ शामिल हुए। ओबीसी मोर्चा के महानगर अध्यक्ष मनोज यादव की ओर से उदासीनता दिखाए जाने से ओबीसी मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष व पूर्व सांसद नरेंद्र कश्यप भी खासे नाराज बताए जाते हैं।
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, प्रदेश अध्यक्ष नरेंद्र कश्यप में ओबीसी मोर्चा के महानगर अध्यक्ष मनोज यादव से महानगर इकाई का गठन कर जल्द ही ओबीसी समाज के बीच जाकर पार्टी और सरकार की नीति व कार्यक्रमों की जानकारी देने के निर्देश दिए हैं मगर मनोज यादव सिर्फ होर्डिंग और फ्लेक्स के जरिए अपने नाम का प्रचार करने में ही लगे हुए हैं। मनोज यादव की बेरूखी के कारण ओबीसी मोर्चा के दूसरे कार्यकर्ता भी प्रदेश अध्यक्ष की ओर से दिए गए निर्देशों का पालन नहीं कर पा रहे हैं। ओबीसी मोर्चा के प्रदेश प्रवक्ता सौरभ जायसवाल ने बताया कि जल्द ही ओबीसी मोर्चा के पदाधिकारियों की बैठक बुलाई जाएगी। इस बैठक में पदाधिकारियों द्वारा किए गए कार्यों की समीक्षा की जाएगी। जो भी कार्यकर्ता सक्रिय नहीं पाया जाएगा, उन्हें बाहर का रास्ता दिखाया जाएगा।